Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जिले के 50 आंगनबाडी केंद्र बनेंगे मॉडल, स्वच्छता के मानकों पर रहेगा विशेष फोकस

Latehar Latest News Today

आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिका एवं सेविकाओं का उन्मुखीकरण कार्यक्रम हुआ आयोजित

लातेहार : समाज कल्याण विभाग एवं यूनिसेफ के संयुक्त पहल से मंगलवार को समाहरणालय सभागार में स्वच्छता पर एक दिवसीय उन्मुखीकरण का आयोजन किया गया। जिसका विधिवत उद्घाटन जिला समाज कल्याण पदाधिकारी रेनू रवि एवं यूनिसेफ के राज्य सलाहकार गौरव वर्मा ने किया।

एक दिवसीय उन्मुखीकरण को संबोधित करते हुए जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने कहा कि लातेहार जिले में 972 आंगनबाड़ी केंद्रों मैं विभिन्न प्रकार की गतिविधियां चलायी जा रही है, परंतु यूनिसेफ के सहयोगी टीम वर्ल्ड विजन इंडिया के सहयोग से आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वच्छता के मानकों पर काम किया जा रहा है। जिसके तहत जिले के प्रखंडों के 50 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल के रूप में विकसित किया जायेगा।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्मुखीकरण को संबोधित करते हुए स्टेट कंसलटेंट गौरव वर्मा ने कहा कि बच्चों में आंगनबाड़ी केंद्र से ही स्वच्छता को लेकर जागरूकता होनी चाहिए। जिले के ऐसे आंगनबाड़ी केंद्र जहां शौचालय एवं पेयजल की सुविधा उपलब्ध नहीं है। आंगनबाड़ी केंद्रों मे पेयजल, शौचालय, हैंड वॉश यूनिट के साथ-साथ आंगनबाड़ी केंद्रों में आने वाली किशोरी बच्चियों के लिए माहवारी स्वच्छता प्रबंधन को लेकर जागरूक किया जायेगा।

उन्मुखीकरण कार्यशाला में जिले के सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, आंगनबाड़ी केंद्र की पर्यवेक्षिका, डीएमएफटी टीम लीड विभु महापात्रा, मुखिया सुनीता देवी समेत चयनित 50 आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका आदि उपस्थित थे।

Latehar Latest News Today