Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार का विवादित बयान, कहा – तुम साले *** हमें मंदिरों में प्रवेश भी नहीं करने देते

शरद पवार का विवादित बयान

Mumbai : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) एक बार फिर से ख़बरों में हैं. इस बार हिंदू देवी-देवताओं के लिए अपशब्दों का उपयोग करने के लिए उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है.

महाराष्ट्र के सतारा में 9 मई को भारतीय जनजातीय अनुसंधान तथा विकास संस्थान द्वारा आयोजित एक समारोह में शरद पवार को बतौर मेहमान आमंत्रित किया गया था. वही इस के चलते वहाँ उपस्थित व्यक्तियों को संबोधित करते हुए शरद पवार ने जवाहर राठौड़ की कविता का जिक्र किया.

ये कहा शरद ने

राठौड़ की कविता का हवाला देते हुए राकांपा प्रमुख ने कहा कि कैसे उन्होंने इसमें अपने पिछड़ी जाति से आने तथा लोगों द्वारा उनके साथ किए गए बर्ताव का वर्णन किया है. शरद पवार ने बोला, ‘हमने तो प्रतिमाओं को तराशा लेकिन आपने सिर्फ उन्हें मंदिरों के भीतर ही रखा तथा तुम साले हरामी हमें मंदिरों में प्रवेश भी नहीं करने देते?’

इसे भी पढ़ें :- कार में जबरन बैठा कर नाबालिग से दुष्कर्म, पांच आरोपी गिरफ्तार

कविता का हवाला दे बोले अपशब्द

वही समारोह में शरद पवार कथित तौर पर निम्न जातियों के व्यक्तियों को मंदिरों में प्रवेश नहीं करने देने के लिए पुजारियों की आलोचना करने के लिए कवि जवाहर राठौड़ का हवाला दे रहे थे. पवार ने आगे बोला, ‘ब्रह्मा-विष्णु-महेश, इन हिंदू देवताओं को हमने छन्नी से तथा अन्य अपने औजारों का इस्तेमाल करके बनाया है.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

हम तुम्हारे भगवान के भी बाप हैं, क्योंकि हम ने इन्हें तुम्हारा परमेश्वर बनाया है. इसलिए जवाहर राठौड़ ने एक कविता लिखी है, जिसमें बोला गया है कि हम अपने साथ हुए अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे.’