Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

BREAKING : कानपुर में सांप्रदायिक हिंसा, नमाज़ के बाद पथराव और फायरिंग

कानपुर में सांप्रदायिक हिंसा : कानपुर के बेकनगंज इलाके में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद बवाल हो गया। यहां से 80 किमी दूर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गवर्नर आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ एक कार्यक्रम में भाग ले रहे थे। उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए 12 थानों की पुलिस लगाई गई। घटना में शामिल 18 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यूपी पुलिस के ADG लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रण किया। मौके पर 12 कंपनी PAC को रवाना किया गया है। वहीं नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने हिंसा पर सवाल उठाते हुए इंटेलिजेंस को फेल बताया है।

पैगंबर साहब पर विवादित टिप्पणी को लेकर प्रोटेस्ट

दरअसल, भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा की पैगंबर मोहम्मद साहब पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी से मुस्लिम समुदाय के लोग नाराज थे। मुस्लिम समुदाय के लोग यतीमखाना की सद्भावना चौकी के पास बाजार बंद करा रहे थे। जब दो समुदाय के लोग आमने- सामने आ गए, जिसके बाद पथराव हुआ।

बवाल इसलिए भी हुआ क्योंकि जुमे की नमाज के दौरान ज्यादातर मस्जिदों में हुई तकरीरों में कहा गया कि वे मोहम्मद साहब पर की गई किसी भी टिप्पणी को बर्दाश्त नहीं करेंगे। वहीं, मुस्लिम संगठनों ने बाजार बंद का आह्वान भी किया। पुलिस ने किसी भी इलाके में लोगों को नमाज के बाद प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। लेकिन लोग सड़कों पर निकल आए।

कानपुर शहर में 4 घंटे तक चला उपद्रव

परेड चौराहा पर करीब एक हजार लोग इकट्‌ठा हुए। बवाल शुरू होने के बाद स्थितियां तेजी से बेकाबू हुई। पुलिस तंग गलियों में घुसकर कार्रवाई नहीं कर पा रही थी। हालांकि करीब 4 घंटे तक चले उपद्रव के बाद स्थितियां काबू में आ गईं। पुलिस ने 18 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है। वहीं, कानपुर उपद्रव पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई होगी। कोई बख्शा नहीं जाएगा।

सबसे पहले चंद्रेश के हाता में हुआ था पथराव

जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग यतीमखाना के बाजार में आए। दुकानें बंद करने का दबाव बनाने लगे। दूसरे धर्म के लोगों ने दुकान बंद करने से मना किया था। नमाजियों के बीच शामिल कुछ अराजक तत्वों ने सबसे पहले चंद्रेश के हाता में घुसकर पथराव किया था।

ADVT

जिसके बाद माहौल बिगड़ गया। भीड़ में शामिल अराजक तत्वों ने तमंचों से फायर भी किए। इसकी जानकारी होने के बाद पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा, ज्वाइंट कमिश्नर आनंद तिवारी भी मौके पर आ गए। पुलिस ने लोगों को नियंत्रित करने के लिए कई राउंड फायर किया। लाठीचार्ज करके लोगों को गलियों में खदेड़ा गया। फिर भी लोग रुक-रुककर पथराव करते रहे। पुलिस ने पूरे एरिया की घेराबंदी कर दी है। फिलहाल कानपुर में तनाव का माहौल बना हुआ है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए करीब 12 थानों का फोर्स मौके पर भेजा गया है। इस पथराव में करीब 7 लोग घायल हुए हैं। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बॉलीवुड और मनोरंजन की ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

कानपुर के बाजार बंद

दरअसल, भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने एक टीवी चैनल की डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद साहब पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। जिससे मुस्लिम समाज में नाराजगी थी। जोहर फैंस एसोसिएशन व अन्य मुस्लिम तंजीमों ने शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय से कारोबार बंद रखने की अपील की। शुक्रवार सुबह से ही चमनगंज, बेगनगंज, तलाक महल, कर्नलगंज, हीरामन पुरवा, दलेल पुरवा, मेस्टन रोड, बाबू पुरवा, रावतपुर व जाजमऊ में कहीं आंशिक तो कहीं बाजार पूरी तरह से बंद रखे गए थे। वहीं, इस बवाल के बाद कानपुर के बाकी बाजारों में भी सन्नाटा छा गया। एहतियातन शहर के दूसरे बाजारों में भी पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है। ताकि, हिंसा को एक इलाके तक ही सीमित रखा जा सके।

देश विदेश की ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

बैरिकेडिंग लगाकर एरिया सील किया

पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीना ने कहा कि हमारे पास फोटो और वीडियो हैं। उपद्रव करने वालों पर गैंगस्टर कार्रवाई होगी। उनकी संपत्तियां जब्त की जाएंगी। CCTV की मदद से पथराव करने वालों की पहचान की जा रही है। बवाल करने वालों को नियंत्रित करने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स तैनात की गई है। बैरिकेडिंग लगाकर एरिया सील किए गए हैं।

शहरी काजी के साथ मारपीट

शहर काजी हाजी कुद्दूस को बात करने के लिए बुलाया गया था। उनके अराजक तत्वों ने मारपीट की। मोबाइल भी छीन लिया गया।

जगह-जगह चिपकाए गए थे पोस्टर

सुबह से ही बवाल की भूमिका बनाई जा रही थी। पूरे बाजार में जगह-जगह पोस्टर चिपकाए गए थे। दुकान बंद रखने के लिए वॉट्सऐप संदेश भेजे जा रहे थे। लेकिन लोकल इंटेलिजेंस की तरफ से अलर्ट जारी नहीं हुआ था।

कानपुर में सांप्रदायिक हिंसा