Breaking :
||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा

लोहरदगा: प्रेम प्रसंग में एक समुदाय ने दूसरे समुदाय के युवक को बेरहमी से पीटा, स्थिति तनावपूर्ण

लोहरदगा : कुडू थाना क्षेत्र के फूलसुरी गांव में प्रेम प्रसंग के मामले में शुक्रवार को एक समुदाय के लोगों ने दूसरे समुदाय के युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। साथ ही आपसी सौहार्द बिगड़ने की भी संभावना थी।

ग्रामीणों से मामले की जानकारी थाना प्रभारी अभिनव कुमार को मिली। सूचना मिलते ही वे तुरंत पुलिस बल के साथ फूलसुरी गांव पहुंचे और मामले को शांत कराया। साथ ही पिटाई कर रहे युवक को इलाज के लिए कुडू अस्पताल भेजा गया। जहां इलाज के बाद युवक की हालत गंभीर देखकर डॉक्टरों ने युवक को रिम्स रेफर कर दिया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बाद में डीसी बाघमारे के निर्देश पर एसडीओ अरविंद कुमार लाल, इंस्पेक्टर मंटू कुमार, बीडीओ मनोरंजन कुमार और सीओ प्रवीण कुमार सिंह गांव फुलसुरी पहुंचे। जहां ग्रामीणों से मिलकर मामला शांत कराया। फिलहाल स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।

मामले को लेकर पूछताछ में दूसरे समुदाय के लोगों ने एसडीओ को बताया कि मेरी बेटी सामान लाने जा रही थी। इसी दौरान गांव के युवक सामान उठाने के बहाने घर के अंदर ले जाकर दुष्कर्म करने का प्रयास किया।

उधर, घायल युवक के परिजनों ने लिखित आवेदन देकर पुलिस को बताया कि युवक अपने घर के पास कुम्बा बाड़ी में स्नान कर रहा था। इसी बीच गांव के करीब एक दर्जन लोग आ गए और मेरे बेटे को ले गए। इसी दौरान रस्सी से बांधकर दोनों ने जोर-जोर से पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान गांव के कुछ लोग और एक गर्भवती महिला उसे बचाने गए। जिसके साथ भी मारपीट की गई।