Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लोहरदगा में माओवादी रवींद्र गंझू के दस्ते के एरिया कमांडर ने किया सरेंडर

Area commander of Maoist Ravindra Ganjhu’s

लोहरदगा : ‘नई दिशा’ के तहत माओवादी संगठन के एरिया कमांडर सूरजनाथ खेरवार ने लोहरदगा के बक्सीडिपा स्थित न्यू पुलिस लाइन में बुधवार को सरेंडर कर दिया। डीसी-एसपी के सामने नक्सली ने सरेंडर किया।

सरेंडर के दौरान सरकार की नीति के तहत दी जाने वाली राशि में से हार्डकोर नक्सली को एक लाख रुपये का चेक और गुलदस्ता भेंट किया गया। नक्सली सूरजनाथ ने आत्मसमर्पण करने के बाद अन्य नक्सलियों से भी बंदूक छोड़कर सरकार की मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की है।

हार्डकोर नक्सली पेशरार थाना अंतर्गत बुलबुल गांव निवासी बालकिशुन खेरवार का पुत्र है। नक्सली सूरजनाथ मुख्यधारा से भटककर संगठन में शामिल हो गया था। नक्सली सूरजनाथ पर पेशरार थाना के अलावा सेरेंगदाग, बिशुनपुर और चंदवा थाना में कई मामले दर्ज हैं।

मौके पर डीसी वाघमारे प्रसाद कृष्ण ने कहा कि सरकार की नीति चरमपंथी संगठन के लिए बेहद फायदेमंद है, जो मुख्यधारा से जुड़ने का मौका देती है। कहा कि अन्य उग्रवादियों को सरकार की नीति के तहत इस धारा में शामिल होकर अपनी जिंदगी सुधारने का मौका दिया जाएगा। साथ ही कहा कि यह योजना उन उग्रवादियों के लिए वरदान साबित होगी, जो मुख्यधारा से जुड़कर परिवार का भविष्य संवारने का काम कर सकते हैं।

वहीं एसपी प्रियंका मीणा ने बताया कि डबल बुल ऑपरेशन के तहत अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जिला पुलिस जगुआर, कोबरा, सैट द्वारा लगातार उग्रवादियों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. जिसमें मुठभेड़ के दौरान कुछ आतंकियों की जान चली गई और माओवादी संगठन के कुछ उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया.

इसे देखते हुए माओवादी संगठन के एरिया कमांडर सूरजनाथ खेरवार रवींद्र गंजू के दस्ते से बाहर निकल आए और खुद को बचाते हुए प्रशासन के सामने सरेंडर कर दिया। एसपी ने कहा कि डबल बुल अभियान का नाम बुलबुल गांव के नाम पर रखा गया है। इसके तहत नक्सलियों को उन वन क्षेत्रों में संयुक्त तलाशी अभियान में करारा जवाब दिया गया।

Area commander of Maoist Ravindra Ganjhu’s