Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

ग्रामीणों ने सीसीएल द्वारा कराये जा रहे सड़क निर्माण कार्य को रोका, मुआवजे की मांग

संजय राम/बारियातू

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत अमरवाडीह पंचायत के सीसीएल द्वारा फुलबसिया, गोलीटांड से बड़काबोन होते हुए चेटर तक निर्माण कराये जा रहे सड़क का काम ग्रामीणों ने ठप करा दिया है।

गोलीटांड, बड़काबोन, फुलबसिया के दर्जनों परिवार के सदस्य भोला गंझू, बासदेव गंझू, रामदेव गंझू, महेंद्र उरांव, लालदेव गंझू, चमन गंझू, हीरा गंझू, बसमतिया देवी, तेतरी देवी, मोहरमनी देवी, मुलिया देवी, मानती देवी, बरती देवी, रांगो देवी सहित अन्य महिला पुरुषों ने बताया कि सीसीएल हमलोगों के साथ शुरू से ही छल करते आ रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जब से सीसीएल यंहा से कोयला उठाव कर रहा है तब से हमलोगों का जीना मुश्किल हो गया है। रात दिन धूल फांकने को विवश हो गए है।

सीसीएल हम सभी का जमीन अधिग्रहण कर सड़क निर्माण, कोयला साइडिंग, कोयला उत्खनन कर रही है। पर स्थानीय किसी रैयत को न तो मुआवजा मिला है और न नौकरी मिली।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

2017 से 2021 तक में सीसीएल द्वारा उपरोक्त गांवों में दर्जन भर से अधिक सड़क बनाया जा चुका है। लेकिन किसी को भी मुआवजा का भुगतान नहीं किया गया है। बीते आठ जून से बीपीएल कंपनी द्वारा फुलबसिया गोली टांड, बड़काबोन होते हुए चेटर तक चौरा दोहर के उपजाऊ जमीन खेत टांड लगभग चार सौ एकड़ जमीन को 1962 में अधिग्रहण बताते हुए सड़क निर्माण करना चाह रही थी। जिसे हम सभी गांव वासियों ने ठप करा दिया है।

ग्रामीणों कहा कि जब कभी अपने हक के लिए आंदोलन करने को एकजुट होते है तो फुलबसिया पिकेट के प्रभारी द्वारा अभद्र व्यवहार करते हुए जेल भेजने की धमकी दी जाती है।

पलामू प्रमंडल की ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन, प्रखंड प्रशासन, सीसीएल के अधिकारी व रैयतों से त्रिपक्षीय वार्ता संपन्न करते हुए पहले मुआवजा नौकरी दे तभी सड़क निर्माण होने देंगे। समाचार लिखे जाने तक दर्जनों महिला पुरुष होने वाले सड़क निर्माण स्थल पर ही जमे थे।