Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
बालूमाथलातेहार

बालूमाथ: निजी जमीन से हो रहा कोयले का परिवहन, लिखित आवेदन देने के बावजूद नहीं हो रही कार्रवाई, परिवहन कार्य ठप करने की चेतावनी

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

उपायुक्त से जमीन की यथाशीघ्र जांच करा उचित मुआवजा देने की मांग

लातेहार : बालूमाथ प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत धाधु पंचायत के कुशमाही कोयला साइडिंग के पास गांव हेमपुर के हल्का नंबर 12 खाता 160 प्लॉट 1080 रैयत का पुश्तैनी जमीन है जिस पर पिछले 1 वर्ष से उक्त रैयती भूमि से जबरन कोयला लदे वाहनों का परिवहन कराया जा रहा है। जिसके चलते इस भूमि पर पर्याप्त मात्रा में फसल भी नहीं की जा रही है।

नहीं लिया जा रहा संज्ञान, मानसिक तनाव में रैयत

मामले को लेकर भूमि के रैयत जिले के उपायुक्त, अंचलाधिकारी, पुलिस अनुमडल पदाधिकारी बालूमाथ, थाना प्रभारी बालूमाथ को लिखित आवेदन दिया गया है। इसके बावजूद पुलिस प्रसासन द्वारा अभी तक कोई संज्ञान नहीं लिया गया है। इस मामले को लेकर पीड़ित रैयत बार-बार पुलिस कार्यालय जा जा कर मानसिक तनाव में आ गए हैं। पर अभी तक प्रखंड एवं जिला पुलिस प्रशासन द्वारा उक्त मामले पर कुछ पहल नहीं हो पाया है।

यदि पुलिस प्रशासन संज्ञान नहीं लेती है तो बाध्य होकर परिवहन कार्य करेंगे ठप : रैयत

पीड़ित रैयतों ने जिले के उपायुक्त से मामले पर यथाशीघ्र संज्ञान लेने की आग्रह किया है। ताकि भूमि का जांच कर उचित मुआवजा दिलाया जाए। रैयत ने यह भी कहा अगर इस मामले में जांच कर मुआवजा दिलवाने में पुलिस-प्रशासन सक्षम नहीं है, तो हम अपने निजी जमीन पर कोयला परिवहन कार्य बाध्य होकर रोक देंगे। जिसकी पूरी जवाब देहि पुलिस प्रशासन की होगी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें