Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

ठगी के शिकार युवक ने एसपी को आवेदन देकर लगाई न्याय की गुहार

लातेहार : चंदवा थाना क्षेत्र के कामता पंचायत निवासी संजय कुमार साहू के साथ साइबर ठगी का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। पीड़ित ने मामले लातेहार एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई गयी है।

आवेदन में भुक्तभोगी संजय ने बताया है कि नौबतपुर, पटना, बिहार निवासी सुधीर श्रीवास्तव नामक युवक के द्वारा उन्हें बंगाल में 20 हजार रुपये महीना पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर एक खाते से उनके खाते में खाते में 10 लाख रुपये डलवाया। इसके बाद जबरन पूरे पैसे की निकासी कर ली गई।

इसे भी पढ़ें :- BREAKING : चंदवा में नाबालिग बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म, मामला दर्ज

संजय कुमार साहू ने बताया कि आरोपी 2003-05 तक चंदवा में ही रहकर सेल्समैन का काम करता था। वर्ष 2021 में नौकरी दिलाने के नाम पर मेरे अलावा कई अन्य लोगों के साथ उसने संपर्क स्थापित किया था।

कोरोना काल के कारण बेरोजगारी छाई हुई थी। जिस कारण मैं उसके बातों में आ गया व उसके संपर्क में आ गया। उसके संपर्क में आने के बाद लगातार मोबाइल पर बात होती रहती थी। इसी बीच दिसंबर 2021 में उसने कहा कि रांची के यस बैंक में खाता खुलवा लीजिए आपका वेतन का भुगतान उसी खाता में किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें :- सीएम हेमंत सोरेन पहुंचे लातेहार, विधायक पुत्र प्रभात को दी सुखद दांपत्य जीवन की शुभकामनाएं

उसकी बातों में आकर मैं खाता खुलवा लिया व उसके कहे अनुसार बैंक पास पासबुक का छाया प्रति चेक लेकर उससे मिलने मैं रांची पहुंचा। जहां से मुझे कोई खुली स्थान आने को कहा गया व जहां नौकरी के इंतजार में मैं होटल में 10 दिन रहा।

इसी बीच सुधीर आकर कहा कि तुम्हारा एटीएम कार्ड छूट गया है चलो बैंक से लेना है जिसके बाद बैंक में आकर एटीएम लिया तो सुधीर ने कहा कि एटीएम दे दो कंपनी में जमा करनी है। उसके विश्वास में आकर एटीएम उसे दे दिया। जिसके बाद 7 अप्रैल को मेरा होटल आया और गाली गलौज कर धमकी देते हुए कहा कि उसका पैसे मेरे खाते में आ गया है। धमकी देते हुए कहा कि चेक साइन कर दो।

इसे भी पढ़ें :- IAS पूजा सिंघल को ED ने किया गिरफ्तार, सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर दी जानकारी

खाता जांच कराने पर मेरे खाते में 10 लाख रुपए किसी खाते से जमा हो गए थे। चेक साइन नही करने पर सुधीर श्रीवास्तव मुझे व मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी देने लगा। तब जाकर मुझे एहसास हुआ कि मैं जालसाजी के चक्कर में फंस चुका हूं। जान बचाने के डर से चेक साइन कर दिया।

जिसके बाद उसने खाते से 9 लाख रुपये चेक के द्वारा निकासी कर ली। वहीं 1 लाख रुपये एटीएम से भी निकासी की। इसके बाद उसने कहा कि होटल छोड़ दो और मुझसे संपर्क करने की कोशिश मत करना। किसी तरह मैं वहां से जान बचाकर घर पहुंचा वह अपने परिवार वालों की इसकी जानकारी दी। मामले में पीड़ित ने प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें