Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
गारूलातेहार

लातेहार: भारी बारिश से गिरा खपरैल मकान, बेघर हुआ बुजुर्ग दंपति, सरकारी मदद की आस

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : ज़िले के गारू प्रखंड अंतर्गत धांगरटोला पंचायत निवासी बुजुर्ग दंपति का खपरैल मकान भारी बारिश से धराशायी हो गया है। जिससे माणिकचंद शाह एवं उनकी पत्नी शांति देवी बेघर हो गये हैं।

पीड़ित माणिकचंद शाह ने बताया कि विगत दिनों हुई भारी बारिश से खपरैल मकान ध्वस्त हो गया है। जिसके बाद से पत्नी के साथ इधर-उधर भटकने को विवश हो गये है। उन्होंने बताया कि मकान ध्वस्त हुए लगभग 25 दिन से ज्यादा हो गये। लेकिन किसी ने हमारी सुध नहीं ली।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि इस मामले की सूचना पंचायत के मुखिया को भी दे दी गयी है। लेकिन उन्होंने मामले को लेकर गंभीरता नही दिखायी, लिहाजा बुजुर्ग दंपति को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बहरहाल यदि ग्रामीणों को पेंशन, आवास जैसी मूलभूत सुविधायेँ भी मयस्सर नही हो पा रही है। तो ऐसे में प्रखंड प्रशासन पर सवालिया निशान लगना लाज़मी है।

इधर इस मामले की सूचना के बाद धांगरटोला पंचायत समिति सदस्य बरखा कुमारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा यह बहुत ही गंभीर समस्या है। चुकी दोनों ही पीड़ित पति-पत्नी बुजुर्ग है और उनका बेशकीमती और दैनिक उपयोग की कई जरूरी सामान मकान के मलबे में दबा हुआ है। जिससे उन्हें खाने-पकाने, रहने, सोने समेत कई तरह की परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा बुजुर्ग दंपति को सरकारी लाभ से तत्काल लाभान्वित करना चाहिए था। लेकिन प्रशासन ने अबतक गंभीरता नही दिखायी है। बरखा कुमारी ने प्रखंड प्रशासन से मांग की है तत्काल पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए उन्हें सरकारी आवास का लाभ दिया जाए।

इधर, प्रधानमंत्री मंत्री आवास के प्रखंड समन्वयक शिव यादव ने बताया कि मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी मिली है। घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद कागज़ी प्रक्रिया पूरी करते हुए उन्हें हर संभव मदद किया जाएगा।