Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

लातेहार: भारी बारिश से गिरा खपरैल मकान, बेघर हुआ बुजुर्ग दंपति, सरकारी मदद की आस

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : ज़िले के गारू प्रखंड अंतर्गत धांगरटोला पंचायत निवासी बुजुर्ग दंपति का खपरैल मकान भारी बारिश से धराशायी हो गया है। जिससे माणिकचंद शाह एवं उनकी पत्नी शांति देवी बेघर हो गये हैं।

पीड़ित माणिकचंद शाह ने बताया कि विगत दिनों हुई भारी बारिश से खपरैल मकान ध्वस्त हो गया है। जिसके बाद से पत्नी के साथ इधर-उधर भटकने को विवश हो गये है। उन्होंने बताया कि मकान ध्वस्त हुए लगभग 25 दिन से ज्यादा हो गये। लेकिन किसी ने हमारी सुध नहीं ली।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि इस मामले की सूचना पंचायत के मुखिया को भी दे दी गयी है। लेकिन उन्होंने मामले को लेकर गंभीरता नही दिखायी, लिहाजा बुजुर्ग दंपति को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बहरहाल यदि ग्रामीणों को पेंशन, आवास जैसी मूलभूत सुविधायेँ भी मयस्सर नही हो पा रही है। तो ऐसे में प्रखंड प्रशासन पर सवालिया निशान लगना लाज़मी है।

इधर इस मामले की सूचना के बाद धांगरटोला पंचायत समिति सदस्य बरखा कुमारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा यह बहुत ही गंभीर समस्या है। चुकी दोनों ही पीड़ित पति-पत्नी बुजुर्ग है और उनका बेशकीमती और दैनिक उपयोग की कई जरूरी सामान मकान के मलबे में दबा हुआ है। जिससे उन्हें खाने-पकाने, रहने, सोने समेत कई तरह की परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा बुजुर्ग दंपति को सरकारी लाभ से तत्काल लाभान्वित करना चाहिए था। लेकिन प्रशासन ने अबतक गंभीरता नही दिखायी है। बरखा कुमारी ने प्रखंड प्रशासन से मांग की है तत्काल पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए उन्हें सरकारी आवास का लाभ दिया जाए।

इधर, प्रधानमंत्री मंत्री आवास के प्रखंड समन्वयक शिव यादव ने बताया कि मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी मिली है। घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद कागज़ी प्रक्रिया पूरी करते हुए उन्हें हर संभव मदद किया जाएगा।