Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

टाना भगतों के आंदोलन से कार्यालयों में कामकाज प्रभावित, बिना फार्म लिए लौटे कई पंचायत प्रत्याशी

लातेहार : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव रद्द कराने के लिए टाना भगत ने 36 घंटे के लिए सभी सरकारी कार्यालयों में ताला लगा दिया है, जिससे नामांकन कराने आए अभ्यर्थियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

दूसरे चरण के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख थी और उम्मीदवार अपना नामांकन दाखिल करने आए थे। हालांकि विभाग द्वारा वैकल्पिक कार्यालय बनाकर नामांकन पत्र जमा किया गया था। वहीं तीसरे चरण के नामांकन पत्र लेने पहुंचे अभ्यर्थियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

मनिका पश्चिम से जिला परिषद प्रत्याशी धनेश्वर सिंह, मनिका सिन्जो से पंचायत समिति सदस्य प्रत्याशी मुनेश्वर सिंह, बालूमाथ प्रखंड से जिला परिषद की सुनीता देवी पर्चा लेने पहुंचे, प्रत्याशी को बिना फार्म ही घर लौटना पड़ा।

इसे भी पढ़ें :- टाना भगतों का आंदोलन : आखिर क्या है पांचवीं अनुसूची का विवाद

बसिया से अंजलि देवी, चेताग से अमित कुमार तुरी पंचायत समिति सदस्य के नामांकन फॉर्म के लिए खरीदारी करने आए थे, लेकिन कार्यालय में ताला लगने के कारण फॉर्म नहीं दिया गया। प्रत्याशी बिना नामांकन फार्म लिए ही लौट गए।

उन्होंने बताया कि हम नामांकन फॉर्म लेने आए थे, लेकिन टाना भगत के आंदोलन के कारण हमें नामांकन फॉर्म नहीं मिला. घंटों इंतजार करने के बाद वापस चले गए।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार : चेक बाउंस के आरोपी को छह माह की सजा

इधर बरियातू फुलसू से निशा शाहदेव पंचायत समिति सदस्य के लिए नामांकन करने आई थीं. जिन्हें नामांकन के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। वहीं, तीसरे चरण के नामांकन पत्र खरीदने के लिए उम्मीदवारों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

वहीं कई प्रत्याशियों फार्म नहीं मिलने के कारण बैरंग लौट गए। कई प्रत्याशी फार्म के स्क्रूटनी के लिए भी पहुंचे थे। उसे भी परेशानी हुई। वहीं कई प्रत्याशियों ने पंचायत चुनाव को लेकर बनाए गए आब्जर्बर के पास भी शिकायत की गई। लेकिन उम्मीदवारों को कुछ फलाफल नहीं निकला।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

वहीं कई प्रत्याशी फार्म नहीं मिलने से घर वापस लौट आए। कई उम्मीदवार फॉर्म की स्क्रूटनी के लिए भी पहुंचे थे। उन्हें भी परेशानी हुई। वहीं कई उम्मीदवारों ने पंचायत चुनाव को लेकर पर्यवेक्षक से शिकायत भी की है। लेकिन उम्मीदवारों को कोई परिणाम नहीं मिला।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें