Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार उपायुक्त के आश्वासन पर टाना भगत अपने घर लौटे

टाना भगत लातेहार

लातेहार : चार दिनों के लगातार आंदोलन के बाद टाना भगतों ने शनिवार को आंदोलन वापस ले लिया। लातेहार उपायुक्त ने 15 मई तक समस्या का समाधान करने के लिए राज्यपाल, मुख्यमंत्री और पंचायती राज मंत्री से मुलाकात करने का आश्वासन दिया है।

इसे भी पढ़ें :- टाना भगतों का आंदोलन : आखिर क्या है पांचवीं अनुसूची का विवाद

आपको बता दें कि पिछले 4 दिनों से अखिल भारतीय टाना भगत संघ द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग को लेकर समाहरणालय के पास आंदोलन चल रहा था। इस दौरान कामकाज काफी प्रभावित रहा। इससे सरकार को करोड़ों रुपये के राजस्व का भी नुकसान हुआ है। आम लोगों को सरकारी काम करवाने में दिक्कत हो रही थी।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार में टाना भगतों का आंदोलन चौथे दिन भी जारी, रेलवे ट्रैक जाम करने की चेतावनी

मंगलवार से ही टाना भगतों ने समाहरणालय का घेराव किया हुआ है। अधिकारीयों को उनके कार्यालय से बाहर निकाल कर ताला जड़ दिया गया था। ताना भगत के धरने से जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन पूरी तरह से बेबस था। पंचायत समिति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने आए अभ्यर्थियों से अनुमंडल पदाधिकारी अपने-अपने आवास पर नामांकन करा रहे थे। पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग पर अड़े टाना भगत संघ के जिलाध्यक्ष बहादुर टाना भगत के मुताबिक सरकार पांचवी अनुसूची का उल्लंघन कर रही है। लातेहार जिला पांचवी अनुसूची के अनुसार अधिसूचित क्षेत्र है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टाना भगत लातेहार