Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

खुलासा: TSPC ने की थी दिलशेर की हत्या, हत्याकांड में शामिल दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार

राजीव मिश्रा/लातेहारदिलशेर हत्याकांड खुलासा

लातेहार : जेएमएम नेता दिलशेर खान हत्याकांड का पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया है। इस हत्याकांड में शामिल दो अपराधियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। हत्या में प्रयुक्त पिस्टल भी बरामद किया गया है। बरामद पिस्टल विदेश की बनी है।

एसपी अंजनी अंजन ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि गिरफ्तार अपराधियों के संबंध टीएसपीसी उग्रवादियों से हैं। एसपी ने कहा कि अपराधियों ने लेवी की मांग करने और इलाके में दहशत फैलाने के मकसद से इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। हत्या के बाद इसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। पुलिस ने जांच के दौरान दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

इसे भी पढ़ें :- परीक्षा केंद्र पर दस मिनट देर से पहुंचने पर शिक्षिका ने छात्रा को भगाया, घर पहुंचकर काट ली हाथ की नस

गिरफ्तार अपराधियों में सनोज उरांव (बालूमाथ) तथा गुड्डन गंझू (हेमपुर, बालूमाथ) शामिल है। दोनों के तार टीएसपीसी उग्रवादी संगठन से जुड़े हैं।

एसपी ने बताया कि इस हत्याकांड में शामिल अन्य अपराधियों की पहचान भी कर ली गई है। जल्द ही सभी की गिरफ्तारी होगी। उन्होंने कहा कि मामले की छानबीन अभी जारी है। इसमें कुछ और बड़ा खुलासा भी होने की संभावना है।

इसे भी पढ़ें :- प्रश्न पत्र लीक होने के बाद जैक ने रद्द की गणित और जीवविज्ञान की परीक्षा

कई सवालों को दे दिया जन्म

जेएमएम नेता दिलशेर खान हत्याकांड का खुलासा तो पुलिस के द्वारा कर दिया गया। परंतु हत्याकांड में कई सवालों को जन्म दिया है। पुलिस का दावा है कि लेवी तथा दहशत फैलाने के लिए उग्रवादियों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। परंतु सबसे बड़ा सवाल यह है कि छोटी सी घटना को अंजाम देने के बाद भी उग्रवादी घटना की जिम्मेदारी लेते हैं। यदि लेवी के लिए दहशत फैलाना ही उग्रवादियों का मकसद था तो फिर घटना की जिम्मेदारी क्यों नहीं ली?

इसे भी पढ़ें :- मनिका : टांगी से मार कर हुई थी हत्या, 6 महीने बाद हुआ खुलासा

छापामारी दल

बालूमाथ एसडीपीओ अजीत कुमार, इंस्पेक्टर शशि रंजन कुमार, थाना प्रभारी प्रशांत प्रसाद, हेरहंज थाना प्रभारी मुकेश चौधरी, बालूमाथ पुलिस अवर निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार महतो, बालूमाथ पुलिस अवर निरीक्षक नीतीश कुमार, बालूमाथ पुलिस अवर निरीक्षक कुबेर साव, हेरहंज थाना के पुलिस अवर निरीक्षक अभिषेक कुमार, बालूमाथ थाना के पुलिस अवर निरीक्षक धीरज कुमार, बालूमाथ थाना के अवर निरीक्षक कुंदन कुमार, बालूमाथ थाना रिजर्व गार्ड, सैट 208 सशस्त्र बल व मकईयाटाड पिकेट के जवान शामिल थे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

मालूम हो कि लातेहार विधायक बैद्यनाथ राम के बालूमाथ प्रखंड प्रतिनिधि और झामुमो नेता दिलशेर खान की अज्ञात अपराधियों द्वारा 24 अप्रैल को बालूमाथ थाना क्षेत्र के कुसुमाही साइडिंग में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वहीं हत्या में शामिल अपराधियों के नहीं पकड़े जाने पर भाजपा ने आक्रामक रुख अख्तियार किया था और 13 मई को बालूमाथ थाना के सामने प्रदर्शन करने की अनुमति मांगी थी।

दिलशेर हत्याकांड खुलासा