Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

पुलिसिया दबिश: बारियातू से अपहृत सेवक साव 55 घंटे के बाद सकुशल बरामद

संजय राम/बारियातू

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र अंतर्गत बरियातू टीओपी के नचना गांव से अगवा किए गए अपहृत मजदूर सेवक साव को करीब 55 घंटे के बाद पुलिस ने सुरक्षित बरामद कर लिया है।

अपहृत मजदूर की बरामदगी बगरा मोड़ से लावालौंग जाने वाली सड़क पर से की गई है। पुलिस के बढ़ते दबाव के बाद अपहरणकर्ता सेवक साव को छोड़कर फरार हो गए।

इस संबंध में बालूमाथ थाना प्रभारी प्रशांत प्रसाद व बरियातू टीओपी प्रभारी कुंदन कुमार ने बताया कि सूचना के बाद से लगातार छापामारी अभियान चलाया जा रहा था। यह अभियान लावालौंग थाना से मिलकर चलाया गया था।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस के दबाव को देखते हुए अपहरणकर्ताओं ने सेवक साव को बागरा मोड़ से लावालौंग जाने वाली ग्राम पक्की सड़क पर छोड़ कर भाग निकले। पुलिस ने सेवक साव को सकुशल बरामद कर लिया है। जबकि घटना में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आपको बता दें कि सेवक साव (पिता स्वर्गीय लालजी साव) का अपराधियों ने शनिवार 28 मई को बरियातू प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रोजेक्ट प्लस टू हाई स्कूल के पास से अपहरण कर लिया था। उसे छोड़ने के एवज में अपहरणकर्ताओं ने परिजनों से तीन लाख की फिरौती मांगी थी। अपहृत सेवक साव के दामाद ने थाने में आवेदन देकर प्रशासन से मदद की गुहार लगाई थी। जिसके बाद से पुलिस सेवक की सकुशल बरामदगी के लिए लगातार छापामारी अभियान चला रही थी।

advt