Breaking :
||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई
Sunday, April 14, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

पुलिसिया दबिश: बारियातू से अपहृत सेवक साव 55 घंटे के बाद सकुशल बरामद

संजय राम/बारियातू

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र अंतर्गत बरियातू टीओपी के नचना गांव से अगवा किए गए अपहृत मजदूर सेवक साव को करीब 55 घंटे के बाद पुलिस ने सुरक्षित बरामद कर लिया है।

अपहृत मजदूर की बरामदगी बगरा मोड़ से लावालौंग जाने वाली सड़क पर से की गई है। पुलिस के बढ़ते दबाव के बाद अपहरणकर्ता सेवक साव को छोड़कर फरार हो गए।

इस संबंध में बालूमाथ थाना प्रभारी प्रशांत प्रसाद व बरियातू टीओपी प्रभारी कुंदन कुमार ने बताया कि सूचना के बाद से लगातार छापामारी अभियान चलाया जा रहा था। यह अभियान लावालौंग थाना से मिलकर चलाया गया था।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस के दबाव को देखते हुए अपहरणकर्ताओं ने सेवक साव को बागरा मोड़ से लावालौंग जाने वाली ग्राम पक्की सड़क पर छोड़ कर भाग निकले। पुलिस ने सेवक साव को सकुशल बरामद कर लिया है। जबकि घटना में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आपको बता दें कि सेवक साव (पिता स्वर्गीय लालजी साव) का अपराधियों ने शनिवार 28 मई को बरियातू प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रोजेक्ट प्लस टू हाई स्कूल के पास से अपहरण कर लिया था। उसे छोड़ने के एवज में अपहरणकर्ताओं ने परिजनों से तीन लाख की फिरौती मांगी थी। अपहृत सेवक साव के दामाद ने थाने में आवेदन देकर प्रशासन से मदद की गुहार लगाई थी। जिसके बाद से पुलिस सेवक की सकुशल बरामदगी के लिए लगातार छापामारी अभियान चला रही थी।

advt