Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

अब छिपादोहर में पूर्व की तरह ट्रेन ठहराव की मांग, ग्रामीणों ने स्टेशन प्रबंधक को सौंपा ज्ञापन, दिया अल्टीमेटम

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड के छिपादोहर रेलवे स्टेशन में पूर्व की तरह सवारी ट्रेनों के ठहराव की मांग लगातार लंबे समय से चली आ रही है। जिसको लेकर छिपादोहर में विभिन्न पंचायत से आये ग्रामीण और पंचायत प्रतिनिधियों ने ग्राम सभा के बैनर तले जिला परिषद सदस्य कन्हाई सिंह के नेतृत्व में ट्रेन ठहराव की मांग को लेकर डीआरएम के नाम स्टेशन प्रबंधक को मांग पत्र सौंपा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों ने पूर्व की तरह छिपादोहर रेलवे स्टेशन पर पटना-बरकाकाना पलामू एक्सप्रेस, जबलपुर हावड़ा शक्तिपुंज एक्सप्रेस व सासाराम-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की।

मौके पर जिप सदस्य कन्हाई सिंह ने बताया कि ट्रेन ठहराव के नाम पर हमारे क्षेत्र के लोगों को अनदेखा करने का काम रेलवे बोर्ड समेत स्थानीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष के बाद जहां बरवाडीह में कुछ ट्रेनों का ठहरा मिला। इसके बाद भी कई ट्रेनों का ठहराव अब तक बाकी है।

वहीं दूसरी ओर पूर्व की तरह छिपादोहर रेलवे स्टेशन में कई सवारी एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव होता था। उसके बाद भी अब तक छिपादोहर के प्रति ध्यान आकर्षित नहीं किया गया है। यह क्षेत्र के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार है। जिसके खिलाफ अब आंदोलन शुरू हो गया है और यह चरणबद्ध तरीके से जारी रहेगा।

जिप सदस्य कन्हाई सिंह ने मांग पत्र के माध्यम से रेलवे को 15 दिनों का अल्टीमेटम दिया है। मांग पूरी नहीं होने पर चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

मौके पर छिपादोहर मुखिया बेरोनिका कुजूर, हरातू मुखिया साकी देवी, लात मुखिया ईश्वरी देवी, पूर्व मुखिया जग सहाय सिंह, महेश कोरवा, सुरेंद्र कोरवा, अरुण ठाकुर, जितेंद्र कुमार समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल थे।