Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
बरवाडीहलातेहार

अब छिपादोहर में पूर्व की तरह ट्रेन ठहराव की मांग, ग्रामीणों ने स्टेशन प्रबंधक को सौंपा ज्ञापन, दिया अल्टीमेटम

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड के छिपादोहर रेलवे स्टेशन में पूर्व की तरह सवारी ट्रेनों के ठहराव की मांग लगातार लंबे समय से चली आ रही है। जिसको लेकर छिपादोहर में विभिन्न पंचायत से आये ग्रामीण और पंचायत प्रतिनिधियों ने ग्राम सभा के बैनर तले जिला परिषद सदस्य कन्हाई सिंह के नेतृत्व में ट्रेन ठहराव की मांग को लेकर डीआरएम के नाम स्टेशन प्रबंधक को मांग पत्र सौंपा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों ने पूर्व की तरह छिपादोहर रेलवे स्टेशन पर पटना-बरकाकाना पलामू एक्सप्रेस, जबलपुर हावड़ा शक्तिपुंज एक्सप्रेस व सासाराम-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की।

मौके पर जिप सदस्य कन्हाई सिंह ने बताया कि ट्रेन ठहराव के नाम पर हमारे क्षेत्र के लोगों को अनदेखा करने का काम रेलवे बोर्ड समेत स्थानीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष के बाद जहां बरवाडीह में कुछ ट्रेनों का ठहरा मिला। इसके बाद भी कई ट्रेनों का ठहराव अब तक बाकी है।

वहीं दूसरी ओर पूर्व की तरह छिपादोहर रेलवे स्टेशन में कई सवारी एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव होता था। उसके बाद भी अब तक छिपादोहर के प्रति ध्यान आकर्षित नहीं किया गया है। यह क्षेत्र के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार है। जिसके खिलाफ अब आंदोलन शुरू हो गया है और यह चरणबद्ध तरीके से जारी रहेगा।

जिप सदस्य कन्हाई सिंह ने मांग पत्र के माध्यम से रेलवे को 15 दिनों का अल्टीमेटम दिया है। मांग पूरी नहीं होने पर चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

मौके पर छिपादोहर मुखिया बेरोनिका कुजूर, हरातू मुखिया साकी देवी, लात मुखिया ईश्वरी देवी, पूर्व मुखिया जग सहाय सिंह, महेश कोरवा, सुरेंद्र कोरवा, अरुण ठाकुर, जितेंद्र कुमार समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल थे।