Breaking :
||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस
Saturday, June 15, 2024
पलामू प्रमंडलमनिकालातेहार

मनिका : टांगी से मार कर हुई थी हत्या, 6 महीने बाद हुआ खुलासा

मनिका : पुलिस ने थाना क्षेत्र के मतनाग गांव अमरेश यादव की हत्या का खुलासा कर दिया है। इस हत्या में शामिल गांव के ही सतन यादव व मुनिराम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

इसे भी पढ़ें :- झारखण्ड : 921 पदों पर बहाली के लिए विज्ञप्ति जारी, जानिए कब शुरू होगा आवेदन

थाना प्रभारी ने बताया कि अमरेश यादव का सतन यादव और मुनीराम से भूमि विवाद था। उन्होंने बताया कि सतन यादव, उसका बेटा, उसकी पत्नी और मुनीराम और उसकी पत्नी अमरेश यादव को गोहाल ले गए थे। वहीँ पर उन लोगों ने मिल कर अमरेश यादव को टांगी से मार डाला था। हत्या के बाद अमरेश यादव का शव पहले अपने खलिहान में रख कर छुपाया गया । इसके बाद करीब रात दो बजे आरोपियों ने पुआल से शव निकालकर गांव से दूर एक कुएं में डाल दिया। ताकि यह मामला आत्महत्या का लगे।

थाना प्रभारी ने बताया कि उन्होंने इसे आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने अमरेश की हत्या स्वीकार कर लिया है। इस घटना के दो आरोपी अभी भी फरार हैं। उन्हें भी बहुत जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आपको बता दें कि अमरेश यादव की हत्या 15 दिसंबर 2021 को हुई थी। इस अभियान में एएसआई प्रदीप राय, एएसआई देवचंद हांसदा व परमानंद सिंह समेत कई जवान शामिल थे।

मनिका हत्या