Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
गारूलातेहार

PTR में फॉरेस्ट गार्ड पर लेपर्ड का हमला, इनक्लोजर के अंदर अब भी मौजूद, 100 वनकर्मी लेपर्ड को निकालने का कर रहे प्रयास

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : पलामू टाइगर रिजर्व के बारेसाढ़ रेंज में एक वन कर्मी पर लेपर्ड ने हमला कर दिया है। इस हमले में वन कर्मी के हाथ में गंभीर चोट आई है। घायल वनकर्मी की पहचान बारेसाढ़ निवासी सूर्य नाथ यादव के रूप में हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के मुताबिक घायल वनकर्मी फॉरेस्ट गार्ड के रूप में इनक्लोज़र से नाईट शिफ्ट कर सुबह वापस घर लौट रहा था तभी लेपर्ड इनक्लोज़र के अंदर घुस आया और वनकर्मी पर जानलेवा हमला कर दिया। परिजनों की मदद से घायल वनकर्मी को गारू रेफरल अस्पताल लाया गया है। जहाँ चिकित्सकों की देखरेख में इलाज किया जा रहा है।

घायल के साथी वनकर्मियों ने बताया कि इलाज का खर्च देने का आश्वासन रेंजर वृंदा पांडेय ने दिया है। इधर घटना के बाद वन विभाग पर कई तरह के सवाल उठने लगे है। चुकी इनक्लोज़र में सांभर जैसे कई तरह के जंगली जानवर हैं। ऐसे में अगर लेपर्ड या कोई अन्य जंगली जानवर इनक्लोज़र में प्रवेश करते हैं तो उन जानवरों से इनक्लोज़र में रह रहे जानवरों को भी खतरा है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बताया जा रहा है कि लेपर्ड अभी भी जोड़ा सखुवा सांभर इनक्लोजर घेराबंदी के अंदर मौजूद है। करीब 70 से 100 वनकर्मियों द्वारा निकालने का प्रयास किया जा रहा है। रेंजर वृंदा पाण्डेय, महुआडांड़ वनपाल अजय टोप्पो, परमजीत तिवारी मौके पर तैनात है। जानकारी के मुताबिक इनक्लोजर में किये गए घेराबंदी को काटने के लिए मशीन मंगवाया जा रहा है।