Breaking :
||लातेहार: बूढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों द्वारा छिपाये गये अत्याधुनिक हथियार व अन्य सामान बरामद||रांची हिंसा मामले में डीसी ने 11 आरोपियों पर मुकदमा चलाने की मांगी अनुमति||धनबाद आशीर्वाद टावर फायर मामले में हाई कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, सरकार से पूछा- अबतक क्या की गयी कार्रवाई||चाईबासा: IED ब्लास्ट में एक बार फिर तीन जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाया गया रांची||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत, 17 फरवरी को होनी थी शादी||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन

लातेहार: बालूमाथ में वज्रपात से एक लड़की की मौत, चार अन्य लड़कियां घायल

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के चितरपुर गांव में आज शाम करीब 4:00 बजे बारिश के साथ वज्रपात होने से एक 15 वर्षीय किशोरी की मौत हो गई। जबकि 4 अन्य बच्चिया घायल हो गई।

मृतक 15 वर्षीय किशोरी की पहचान चितरपुर निवासी रामदयाल उरांव की पुत्री सरस्वती कुमारी के रूप में हुई है। जबकि घायलों में ग्राम निवासी वृक्ष उरांव की पुत्री बिंदु कुमारी, प्रमोद उरांव की पुत्री सिमरन कुमारी व शीतल कुमारी तथा शीतल उरांव की पुत्री दीपा कुमारी शामिल है।

सभी घायलों का प्राथमिक उपचार बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर अशोक ओड़िया की देखरेख में किया जा रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के अनुसार सभी लड़कियां गांव के फुटबॉल मैदान किनारे स्थित जामुन का फल खाने गई थीं। इसी दौरान तेज आंधी तूफान के साथ जोरदार बारिश होने लगी। जिससे बचने के लिए सभी बच्चियां जामुन पेड़ के नीचे खड़ी हो गई। इसी दौरान वज्रपात हो गया जिसमें 15 वर्षीय किशोरी सरस्वती कुमारी की मौत मौके पर ही हो गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

जबकि इस हादसे में चार अन्य बच्चियां बेहोश होकर करीब पौन घंटे तक घटनास्थल पर ही पड़ी रहीं। बाद इसकी जानकारी ग्रामीणों को मिली तो आनन-फानन में घायल बच्चियों को इलाज के लिए बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां सभी घायल बच्चियों की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। इस घटना में किशोरी की मौत हो जाने के बाद परिजनों व शुभचिंतकों का रो-रोकर बुरा हाल है।

advt