Breaking :
||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव

लातेहार: फाइलेरिया उन्मूलन को लेकर कल से नाईट ब्लड सर्वेक्षण शुरू

दीपक मिश्रा/लातेहार

लातेहार : सदर अस्पताल में सिविल सर्जन हरेंद्र चंद महतो की अध्यक्षता में फाइलेरिया उन्मूलन को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें फाइलेरिया उन्मूलन को लेकर नाईट ब्लड सर्वेक्षण 11.6.2022 से शुरू करने का निर्णय लिया गया।

फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम‌ अन्तर्गत जिला मलेरिया विभाग लातेहार के द्वारा सभी समुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में दो- दो स्थानों पर नाईट ब्लड सर्वे के माध्यम से माइक्रो फलेरिया का पता लगाया जायेगा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

कार्यशाला में विशेषज्ञों ने बताया कि फलेरिया एक गंभीर बीमारी हैं, इससे रोगी का पैर में सूजन अथवा हाइड्रोसील हो जाता हैं। फलेरिया का कृमि व्यक्ति के रक्त में सक्रिय होकर रात में आता हैं। इसलिए रक्त का नमूना रात 8 बजे से 12 बजे के बीच में लिया जाता हैं।

फलेरिया से संक्रमित व्यक्ति में लक्ष्ण दिखने में 5 से 10 वर्ष का समय लगता है। स्वस्थ्य व्यक्ति में भी फाइलेरिया का कृमि पाया जा सकता है।

मौके पर मलेरिया सलाहकार आर्यन पांडेय, डाॅक्टर राजेश कुमार, अजय भारती एमटीएस, एमपीडब्लू पंकज कुमार, सर्वे श्री पांडेय, संकेत कुमार, आनंद उरांव, शंकर उरांव, रिंकु कुमार सहित अन्य प्रखंडों के स्वास्थ्यकर्मी मौजूद थे।