Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: श्रम अधीक्षक ने मनिका से दो बाल मजदूरों को कराया मुक्त

लातेहार : जिले को बाल श्रम की कुप्रथा से मुक्त कराने के लिए 1 जून से 30 जून तक बाल श्रम उन्मूलन दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिए उपायुक्त अबु इमरान द्वारा टास्क फोर्स और छापेमारी टीम भी गठित की गई है और उन्होंने टास्क फोर्स के सदस्यों को जिले के होटल, ढाबों, भट्टों, मोटर गैरेज आदि में छापेमारी करने और वहां काम करने वाले बाल मजदूरों को मुक्त कराने का निर्देश दिया है।

इसी कड़ी में लातेहार उपायुक्त अबू इमरान के निर्देश पर टास्क फोर्स सदस्य एवं श्रम अधीक्षक लातेहार बबन सिंह, बचपन बचाओ आंदोलन के जिला समन्वयक रविशंकर और मनिका थाने के बाल कल्याण पुलिस अधिकारी मिथिलेश कुमार ने संयुक्त रूप से दर्जनों कार्यक्रम आयोजित किये।

मंगलवार को मनिका थाना क्षेत्र। ढाबों, रेस्तरां और लाइन होटलों में छापेमारी की गई। इस दौरान मनिका बाजार क्षेत्र के दो अलग-अलग होटलों में काम करने वाले दो बाल मजदूरों को मुक्त कराया गया। इसके अलावा श्रम अधीक्षक ने टास्क फोर्स के साथ कई ईंट भट्ठों का भी निरीक्षण किया, लेकिन बाल मजदूरी का कोई मामला सामने नहीं आया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

श्रम अधीक्षक श्री सिंह ने बताया कि मुक्त कराए गए दोनों बच्चों को आगे की कार्रवाई के लिए बाल कल्याण समिति लातेहार को सौंप दिया गया है। फिलहाल दोनों बच्चों को बाल गृह में रखा गया है। होटल मालिक के खिलाफ मनिका थाने में बाल एवं किशोर श्रम अधिनियम (निषेध एवं नियमन) 1986 के तहत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। छापेमारी टीम में श्रम अधीक्षक कार्यालय के रंजीत कुमार और विजय कुमार भी मौजूद थे।