Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार: श्रम अधीक्षक ने मनिका से दो बाल मजदूरों को कराया मुक्त

लातेहार : जिले को बाल श्रम की कुप्रथा से मुक्त कराने के लिए 1 जून से 30 जून तक बाल श्रम उन्मूलन दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिए उपायुक्त अबु इमरान द्वारा टास्क फोर्स और छापेमारी टीम भी गठित की गई है और उन्होंने टास्क फोर्स के सदस्यों को जिले के होटल, ढाबों, भट्टों, मोटर गैरेज आदि में छापेमारी करने और वहां काम करने वाले बाल मजदूरों को मुक्त कराने का निर्देश दिया है।

इसी कड़ी में लातेहार उपायुक्त अबू इमरान के निर्देश पर टास्क फोर्स सदस्य एवं श्रम अधीक्षक लातेहार बबन सिंह, बचपन बचाओ आंदोलन के जिला समन्वयक रविशंकर और मनिका थाने के बाल कल्याण पुलिस अधिकारी मिथिलेश कुमार ने संयुक्त रूप से दर्जनों कार्यक्रम आयोजित किये।

मंगलवार को मनिका थाना क्षेत्र। ढाबों, रेस्तरां और लाइन होटलों में छापेमारी की गई। इस दौरान मनिका बाजार क्षेत्र के दो अलग-अलग होटलों में काम करने वाले दो बाल मजदूरों को मुक्त कराया गया। इसके अलावा श्रम अधीक्षक ने टास्क फोर्स के साथ कई ईंट भट्ठों का भी निरीक्षण किया, लेकिन बाल मजदूरी का कोई मामला सामने नहीं आया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

श्रम अधीक्षक श्री सिंह ने बताया कि मुक्त कराए गए दोनों बच्चों को आगे की कार्रवाई के लिए बाल कल्याण समिति लातेहार को सौंप दिया गया है। फिलहाल दोनों बच्चों को बाल गृह में रखा गया है। होटल मालिक के खिलाफ मनिका थाने में बाल एवं किशोर श्रम अधिनियम (निषेध एवं नियमन) 1986 के तहत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। छापेमारी टीम में श्रम अधीक्षक कार्यालय के रंजीत कुमार और विजय कुमार भी मौजूद थे।