Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

लातेहार: पत्थर खदान, क्रशर व ईंट भट्ठों की जांच, ईट भट्ठा संचालक पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश

लातेहार : उपायुक्त अबु इमरान के निर्देश पर अनुमंडल पदाधिकारी शेखर कुमार व जिला खनन पदाधिकारी आनन्द कुमार की टीम ने चंदवा प्रखंड अंतर्गत लोहरसी में स्थित पत्थर खदान एवं हुटाप में स्थित पत्थर क्रशर का निरीक्षण किया।

उक्त पत्थर खदान एवं क्रशर के अनुज्ञप्तिधारी संतोष कुमार सिंह हैं। जिला खनन पदाधिकारी ने पत्थर खदान एवं क्रशर से सम्बंधित खनन अनुज्ञप्ति, भंडारण अनुज्ञप्ति, सीटीओ इत्यादि की जाँच की।

वहीं अनुमंडल पदाधिकारी ने अंचल अधिकारी चंदवा को अनुज्ञप्तिधारी के पक्ष में स्वीकृत लीज क्षेत्र के दायरे में ही या उससे अधिक क्षेत्र में खनन व भंडारण किया जा रहा है, इस सम्बन्ध में जाँच कर विस्तृत प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके अलावा चंदवा प्रखंड अंतर्गत 5 ईंट भट्टो की भी जाँच की गयी। जाँच में पाया गया कि सेरक स्थित ईंट भट्टा के संचालक के द्वारा रॉयल्टी का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस पर अनुमंडल पदाधिकारी ने उक्त ईंट भट्टा के संचालक पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

अनुमंडल पदाधिकारी ने जाँच के क्रम में पाँचों ईंट भट्टा के संचालकों को ईंट भट्टा में प्रयुक्त होने वाले कोयले की वैधता के सम्बन्ध में कागजात उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।