Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

वन विभाग ने तीन ट्रैक्टरों में लदी अवैध लकड़ी जब्त की, चार पर नामजद प्राथमिकी दर्ज

लातेहार वन विभाग

लातेहार : पलामू व्याघ्र परियोजना के तहत दक्षिणी वन प्रमंडल के बारेसाढ़ वन क्षेत्र में गुप्त सूचना पर रेंजर तरुण कुमार के नेतृत्व में छापेमारी अभियान चलाया गया।

अभियान में पीएफ पहाड़कोचा के पास से लकड़ी लदे तीन ट्रैक्टर जब्त किए गए। इसकी कीमत करीब 50 हजार रुपए आंकी गई है। इस संबंध में चार लोगों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

रेंजर कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि पहाड़कोचा पीएफ वन से अवैध लकड़ी लाकर ईंट भट्ठे में रख दी गई है। सूचना पर वनकर्मियों की टीम गठित कर पहाड़कोचा में छापेमारी की गई, जहां से तीन ट्रैक्टर लकड़ी के बोटे जब्त किए गए। इसकी कीमत 50 हजार रुपये आंकी गई है।

उन्होंने कहा कि डीएफओ को सूचना मिली थी कि संतोष यादव, मुन्ना सिंह, एल्विनस लकड़ा सभी पहाड़कोचा गांव और सुनील प्रसाद बारेसाढ़ ने अवैध रूप से लकड़ी के बोटा की कटाई कर ईंट भट्ठा जलाने के लिए स्टोर कर रखा है। इसके आधार पर लकड़ी का बोटा जब्त कर लिया गया।

वनकर्मियों की छापेमारी देख इसमें शामिल लोग भाग खड़े हुए। इस संबंध में चारों के खिलाफ बारेसाढ़ थाने में मामला दर्ज किया गया है। अभियान में बड़ी संख्या में बारेसाढ़ के वनकर्मी शामिल थे।

लातेहार वन विभाग


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *