Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

लातेहार: जिला मुख्यालय निवासी ने धोखाधड़ी का मामला कराया दर्ज, पुलिस कर रही जांच

लातेहार: जिला मुख्यालय निवासी शैलेश कुमार (वृन्द कुमार) ने लातेहार सदर थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है।

आवेदन में शैलेश कुमार ने बताया है कि आरागुंडी निवासी नंदकिशोर यादव (पिता स्वर्गीय राम प्रसाद यादव) को एक नंबर चिमनी ईंट के लिए डेढ़ लाख रुपए नगद दिया था। जिसके एवज में इकरारनामा भी किया गया था।

इकरारनामा में बताया गया था कि नंदकिशोर यादव 30 दिसंबर तक ईंट की आपूर्ति करेंगे। ईट की आपूर्ति नहीं करने पर दिए गए चेक के माध्यम से आईडीबीआई लातेहार शाखा से उपरोक्त पैसे की निकासी कर लेंगे।

इसे भी पढ़ें :- झारखण्ड में बिजली दर 17 फीसदी तक बढ़ाने की हो रही तैयारी

आगे बताया है कि निर्धारित तिथि पर नंदकिशोर यादव के द्वारा जब ईंट की आपूर्ति नहीं की गई तो मैं चेक लेकर आईडीबीआई शाखा गया। जहां बताया गया कि खाते में पर्याप्त राशि नहीं है। जिसके बाद बैंक कर्मियों ने नंदकिशोर यादव से संपर्क करने की बात कही। जब मैंने नंदकिशोर यादव से मुलाकात किया तो कहा गया कि अगले डेढ़ माह के अंदर पैसे का भुगतान नकद कर दिया जाएगा।

लेकिन समय बीत जाने के बाद भी नंदकिशोर यादव ने पैसे नहीं दिए और कहा कि पैसे वापस नहीं करूंगा आपको जो करना है करें, मैं समझ लूंगा।

इसे भी पढ़ें :- पलामू : खुदाई में मिली अष्टधातु से निर्मित माँ दुर्गा की मूर्ति

आवेदन में भुक्तभोगी नहीं बताया है कि नंदकिशोर यादव के इस व्यवहार से मुझे पूर्ण विश्वास हो गया है कि उन्होंने जानबूझकर इकरारनामा कर पैसे की ठगी की है। भुक्तभोगी ने आवेदन के माध्यम से उचित कार्रवाई करते हुए न्याय की गुहार लगाई है।

इस संबंध में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि दिए गए आवेदन के आधार पर मामला दर कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है जिसके बाद उचित कार्रवाई की जायेगी।

इसे भी पढ़ें :- पलामू: अपहरण कर दुष्कर्म के बाद हत्या के आठ आरोपियों को उम्रकैद की सजा

लातेहार: जिला मुख्यालय निवासी शैलेश कुमार (वृन्द कुमार) ने लातेहार सदर थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है।

आवेदन में शैलेश कुमार ने बताया है कि आरागुंडी निवासी नंदकिशोर यादव (पिता स्वर्गीय राम प्रसाद यादव) को एक नंबर चिमनी ईंट के लिए डेढ़ लाख रुपए नगद दिया था। जिसके एवज में इकरारनामा भी किया गया था।

इकरारनामा में बताया गया था कि नंदकिशोर यादव 30 दिसंबर तक ईंट की आपूर्ति करेंगे। ईट की आपूर्ति नहीं करने पर दिए गए चेक के माध्यम से आईडीबीआई लातेहार शाखा से उपरोक्त पैसे की निकासी कर लेंगे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आगे बताया है कि निर्धारित तिथि पर नंदकिशोर यादव के द्वारा जब ईंट की आपूर्ति नहीं की गई तो मैं चेक लेकर आईडीबीआई शाखा गया। जहां बताया गया कि खाते में पर्याप्त राशि नहीं है। जिसके बाद बैंक कर्मियों ने नंदकिशोर यादव से संपर्क करने की बात कही। जब मैंने नंदकिशोर यादव से मुलाकात किया तो कहा गया कि अगले डेढ़ माह के अंदर पैसे का भुगतान नकद कर दिया जाएगा।

लेकिन समय बीत जाने के बाद भी नंदकिशोर यादव ने पैसे नहीं दिए और कहा कि पैसे वापस नहीं करूंगा आपको जो करना है करें, मैं समझ लूंगा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आवेदन में भुक्तभोगी नहीं बताया है कि नंदकिशोर यादव के इस व्यवहार से मुझे पूर्ण विश्वास हो गया है कि उन्होंने जानबूझकर इकरारनामा कर पैसे की ठगी की है। भुक्तभोगी ने आवेदन के माध्यम से उचित कार्रवाई करते हुए न्याय की गुहार लगाई है।

इस संबंध में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि दिए गए आवेदन के आधार पर मामला दर कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है जिसके बाद उचित कार्रवाई की जायेगी।