Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार: महिला की मौत के बाद सिटी हॉस्पिटल प्रबंधन व डॉक्टर पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज

लातेहार : जिला मुख्यालय किनामाड के सिटी अस्पताल के डॉ. अंजन रंजन खुसार, डॉ. जेपी सिंह और अस्पताल प्रबंधन साजिद अंसारी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि यह मामला सदर प्रखंड के कढ़िमा गांव निवासी मृतका छोटी देवी के पति टुनटुन यादव ने दर्ज कराया है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में भादवी की धारा 304, 304ए और 34 के तहत मामला संख्या 135/22 दर्ज किया गया है।

मालूम हो कि बीते शुक्रवार को टुनटुन यादव प्रसव पीड़ा से कराह रही अपनी पत्नी को प्रसव कराने के लिए सिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। रात के 2:00 बजे बड़ा ऑपरेशन से एक स्वस्थ बच्चे का जन्म हुआ। जन्म के बाद जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ थे।

उन्होंने बताया कि अस्पताल के डॉक्टर ने कहा कि उनकी पत्नी में खून की कमी है। लेकिन काफी तलाश के बाद भी बी पॉजिटिव 1 यूनिट ब्लड नहीं मिला। इस बीच सिटी अस्पताल के एक कर्मचारी ने कहा कि आठ हजार देंगे तो खून मिलेगा।

उसने उस कमी को आठ हजार दिए। खून आने के बाद उसकी पत्नी को खून चढ़ाया गया। इस दौरान उनकी पत्नी की हालत बिगड़ने लगी।

उन्होंने बताया कि रात में ही उनकी पत्नी की अस्पताल में मौत हो गई थी। लेकिन अस्पताल प्रबंधक मामले को छिपाने के लिए उसकी पत्नी और मां को अपने वाहन में रांची रिम्स ले गए। रांची रिम्स पहुंचकर चालक ने उनकी पत्नी का शव उतारकर वहां से फरार हो गया।