Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

LATEHAR BREAKING: बड़ा रेल हादसा टला, पहाड़ के टुकड़े पटरी पर गिरे

लातेहार रेल हादसा

लातेहार : बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड के रिचुघुटा और चेतर स्टेशन के बीच रविवार की दोपहर तीसरी रेल लाइन निर्माण के दौरान एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। ब्लास्टिंग के दौरान पहाड़ के बड़े-बड़े टुकड़े टूट कर अप लाइन के रेलवे ट्रैक पर जा गिरे। जिससे रेलवे ट्रैक पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे अप लाइन पर ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बाधित हो गया। जो करीब 3 घंटे तक रहा।

यहाँ पर चल रहा था काम

ब्लास्टिंग के दौरान हुआ हादसा

जानकारी के अनुसार इस रेलखंड पर आरवीएनएल द्वारा तीसरी रेलवे लाइन का निर्माण किया जा रहा है। निर्माण कार्य के दौरान प्रस्तावित मार्ग पर एक पहाड़ आ रहा था। जिसे आरवीएनएल कर्मियों की देखरेख में पोल संख्या 190/17 के पास ब्लास्ट कर रास्ते से हटाया जा रहा था।

बाल-बाल बची मालगाड़ी

इस दौरान अनियंत्रित विस्फोट से पहाड़ टूट गया और रेलवे ट्रैक पर गिर गया। पहाड़ के टुकड़े इतने बड़े थे कि रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गया। गनीमत रही कि टोरी जंक्शन से अप लाइन पर आ रही मालगाड़ी चालक की सूझबूझ से बाल-बाल बच गई।

मौके पर पहुंचे रल अधिकारी

इधर हादसे की सूचना पर रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे और काफी मशक्कत के बाद अप लाइन पर गिरी बड़ी चट्टानों को जेसीबी की मदद से हटाया गया। खबर लिखे जाने तक करीब तीन घंटे के बाद रेल परिचालन फिर से शुरू कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि रेलवे ट्रैक के आसपास पड़े पहाड़ के टुकड़ों को अभी भी ब्लॉक लेकर हटाने का कार्य किया जा रहा है।

आरवीएनएल कर्मियों को लगाईं फटकार

मिली जानकारी के अनुसार रेलवे अधिकारियों ने मौके पर मौजूद आरवीएनएल के अधिकारियों व कर्मियों को इस लापरवाही के लिए फटकार लगाई।

आरवीएनएल की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल

आज जिस तरह से एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया, उसी तरह तीसरी रेलवे लाइन का निर्माण कर रही आरवीएनएल की कार्यशैली पर भी कई सवाल उठ रहे हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

लातेहार रेल हादसा