Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

पांडेयपुरा में गाजे बाजे के साथ निकाली गयी कलश यात्रा, 201 कन्याओं ने लिया भाग, झूमे श्रद्धालु

लातेहार : सदर प्रखंड के पाण्डेयपुरा गांव में रविवार को मां दुर्गा की प्रतिमा की स्थापना कर सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति द्वारा बड़ी धूमधाम से कलश यात्रा निकाली गयी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मुख्य यजमान के रूप में सपत्नीक राम नारायण प्रसाद ने पूजा-अर्चना की। कलश यात्रा के दौरान 201 बालिकाएं शिव मंदिर परिसर से कलश लेकर सालोडीह स्थित गर्मजल कुण्ड पर पहुंचीं। जहां गांव के पुजारी सूर्यदेव उपाध्याय द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार कर कलश में जल भरा गया।

जल भरने के बाद, शिव फिर से मंदिर पहुंचे और कलश स्थापित किए गए। इसके बाद उपस्थित श्रद्धालुओं में महाप्रसाद का वितरण किया गया। कलश यात्रा के दौरान भक्तों ने भक्ति गीतों में नृत्य किया। भक्ति गीतों से पूरा गांव भक्तिमय हो गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इस अवसर पर विश्वनाथ प्रसाद, गोविंद प्रसाद, बसंत प्रसाद, श्याम बिहारी प्रसाद, दिलीप प्रसाद, दिनेश प्रसाद, काशी प्रसाद, अशोक प्रसाद, सुरेंद्र प्रसाद, केदार प्रसाद, पंकज गुप्ता, महेश प्रसाद, नवल प्रसाद, ओमप्रकाश प्रसाद, चंद्रशेखर प्रसाद, पिंटू प्रसाद, कुंदन प्रसाद, पवन प्रसाद, निरंजन प्रसाद, प्रभात कुमार, अखिलेश कुमार, आनंद कुमार, प्रमोद कुमार, नितेश कुमार, संजय प्रसाद, वरुण प्रसाद, विकास प्रसाद, अमर प्रसाद, सनोज कुमार, बीरबल प्रसाद, देव कुमार समेत गांव के बुजुर्ग, युवक, युवतियां, महिलाएं आदि मौजूद थे।