Breaking :
||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत||बालूमाथ: शार्ट सर्किट से हाइवा वाहन में लगी आग, जलकर राख||बालूमाथ: महिला का अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ठगे सात लाख रुपये, गिरफ्तार||बालूमाथ: सरस्वती पूजा को लेकर निकाली गयी शोभायात्रा पर मधुमक्खियों का हमला, मची अफरा-तफरी||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा पांच हाइवा जब्त, तीन गिरफ्तार||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित||आईईडी ब्लास्ट में फिर एक जवान घायल, लाया गया रांची

12वीं में 95 फीसदी अंक हासिल कर सुहाना सिंह और अविनाश नेतरहाट के ज्वाइंट टॉपर

लातेहार : जिले के नेतरहाट आवासीय विद्यालय की छात्रा सुहाना सिंह और अविनाश कुमार सीबीएसई बोर्ड 12वीं विज्ञान के परिणाम में अपने स्कूल के संयुक्त टॉपर बने हैं। इस परीक्षा में दोनों को 95 प्रतिशत अंक मिले हैं।

आपको बता दें कि वर्ष 2020 में सुहाना सिंह ने राज्य के इसी स्कूल से झारखंड एकेडमिक काउंसिल की दसवीं कक्षा की परीक्षा में चौथा स्थान हासिल किया था। वह छात्राओं की श्रेणी में स्टेट टॉपर रही। उसे 75.2 फीसदी अंक मिले थे। सुहाना नेतरहाट आवासीय विद्यालय के प्राचार्य डॉ. संतोष कुमार सिंह की बेटी हैं। इस बार इस स्कूल से 12वीं की परीक्षा में कुल 20 विद्यार्थी शामिल हुए थे, जिनमें से सुहाना अकेली छात्रा थी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

नेतरहाट स्कूल के छात्र पहली बार सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए। इस परीक्षा में कुल 20 छात्र शामिल हुए थे, जिनमें से सात छात्र विज्ञान संकाय के टॉप पांच छात्रों में शामिल हैं। वहीं, कला संकाय के टॉप पांच में इतनी ही संख्या में छात्र शामिल हैं।

नेतरहाट स्कूल के कुल 20 छात्रों में से तीन ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए। इनमें सुहाना के अलावा विज्ञान में अविनाश कुमार (95 फीसदी) और कला में बलवंत कुमार (93 फीसदी) शामिल हैं। पांच छात्रों को 80 से 90 पर्सेंटाइल और 11 को 70 से 80 फीसदी अंक मिले हैं। सुहाना सिंह ने संगीत में 100 में से 100 अंक हासिल किए। वहीं अविनाश कुमार को शारीरिक शिक्षा में 100 में 99 अंक मिले। बलवंत कुमार ने राजनीति विज्ञान में 100 में से 99 अंक प्राप्त किए हैं।

स्कूल के प्राचार्य डॉ. संतोष कुमार सिंह ने स्कूल के नतीजों पर कहा कि पिछले साल कोरोना के कारण छात्रों को बिना परीक्षा के अंक मिले। पहली बार स्कूल के बच्चे सीबीएसई की परीक्षा में शामिल हुए। उन्होंने परिणाम को संतोषजनक बताते हुए कहा कि शिक्षकों की कमी के बावजूद बच्चों का परिणाम बेहतर रहा है। कृपया ध्यान दें कि कक्षा 10वीं के बाद छात्र स्कूल में नहीं रहते हैं। इसका मुख्य कारण वहां शिक्षकों की कमी है। हालांकि इस साल 70 छात्रों का नामांकन हुआ है।