Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

झामुमो नेता दिलशेर खान हत्याकांड की सीबीआई से हो जांच : समसुल खान

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के कुसमाही कोल साइडिंग में 24 अप्रैल 2022 को आंधाधुन गोली चला कर अपराधियों द्वारा झामुमो नेता मरहूम दिलशेर खान की निर्मम हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद जिले के पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन के द्वारा एसआईटी टीम गठित कर कार्रवाई करते हुए हत्या में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

दिलशेर खान के परिजन

लेकिन पीड़ित परिजन पुलिस प्रशासन के अबतक कार्रवाई से पूरी संतुष्ट नहीं है। इसी कड़ी में पीड़ित परिजनों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य सरकार से पूरे मामले को लेकर सीबीआई जांच कराने की मांग करते हुए मुआवजा के रूप में 50 लाख रुपया और दो परिजन को नौकरी देने की मांग की है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मरहूम दिलशेर खान के पिता प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताते हैं कि मुझे आज भी ऐसा लगता है कि असल कातिल पुलिस की गिरफ्त से अभी भी कोसों दूर है। आखिर मेरे पुत्र को किसके इशारे में हत्या की गई? वह कौन है? मेरे पुत्र का असली कातिल आखिर किस कारण से मेरे पुत्र की हत्या की गई? मेरे पुत्र की हत्या के जिम्मेवारी लेने से क्यों कोई मुंह मोड़ ले रहा है? ऐसे कई सवाल पत्रकार के समक्ष रखा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने आगे कहा कि स्थानीय प्रशासन पूरे परिजन को सुरक्षा दे नहीं तो मुझे अंदेशा है कि कभी भी कोई अनहोनी घटना मेरे और मेरे परिवार के साथ हो सकती है। मरहूम के पिता का यह भी कहना था कि अगर इस हत्याकांड का सरकार सीबीआई जांच करा देती है तो कई चौंकाने तथ्य सामने आ आते।

वहीं चौंकाने वाली बात तो यह है कि हत्या के 50 दिन बीत जाने के बाद भी अबतक पीड़ित परिवार को राज्य सरकार या जिला प्रशासन के द्वारा किसी भी तरह का मुआवजा या लाभ नहीं दिया गया है।