Breaking :
||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी

झारखंड: लातेहार फूड प्वाइजनिंग मामले में भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने दी तीखी प्रतिक्रिया

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

दोषी अधिकारियों को बर्खास्त करने की अनुशंसा करें डीसी

एक सप्ताह के भीतर जिले में इस तरह की यह दूसरी घटना

लातेहार : भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने लातेहार में रिंग्स व कुरकुरे खाने से फिर दो बच्चों के बीमार होने के मामले में गहरी नाराजगी जाहिर की है। कहा कि प्रतिबंध के बावजूद रिंग्स व कुरकुरे की बिक्री खुलेआम हो रही है। उन्होंने कहा बालूमाथ के बसिया गांव में दो बच्चियों की तबीयत आज फिर से रिंग्स कुरकुरे खाने के कारण बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

प्रतुल ने कहा कि इसके पहले भी चंदवा के परसाही गांव में रिंग्स कुरकुरे खाने से 2 बच्चियों की दुःखद मौत हो गई थी और 2 अन्य बच्चों को गंभीर हालत में रिम्स में भर्ती कराया गया था। कहा कि उस समय भी प्रशासन ने गोदाम को सील करने की बात कही थी और दुकानों में छापेमारी अभियान चलाया था। लेकिन यह सब सिर्फ आईवॉश था क्योंकि अभी भी जिले में रिंग्स व कुरकुरे की बिक्री लगातार जारी है। लापरवाही के कारण छोटे-छोटे बच्चों की जान खतरे में पड़ रही है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने डीसी से मांग किया है कि जिन अधिकारियों की लापरवाही से आज फिर बच्चियों की जान खतरे में आ गई है, उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हो। इन लापरवाह अधिकारियों की बर्खास्तगी की भी अनुशंसा की जाय।उन्होंने कहा कि अभी भी प्रशासन चेते और कड़े कदम उठाएं। गोदाम को सील किया जाए और दुकान से घटिया स्नैक्स को हटवाया जाए।

इसे भी पढ़ें :- झारखंड: लातेहार में पैकेट बंद रिंग्स व कुरकुरे खाने से दो बच्चे फिर बीमार, एक की हालत गंभीर, रिम्स रेफर

advt