Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
पलामू प्रमंडललातेहारहेरहंज

कोविड वैक्सीन कार्ड बनाने के नाम पर साइबर अपराधियों ने ग्रामीण युवक के खाते से उड़ाए 90 हजार रुपये, थाना ने आवेदन लेने से किया इनकार

लातेहार : हेरहंज थाना क्षेत्र के लावागड़ा गांव निवासी अरविंद उरांव के खाते से आज साइबर अपराधियों ने कोविड वैक्सीन कार्ड बनवाने के नाम पर 90 हजार रुपये की ठगी की। इस मामले को लेकर जब पीड़ित युवक शिकायत लेकर थाने गया तो मौके पर बैठे अधिकारी ने आवेदन लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद युवक मायूस होकर अपने गांव लौट गया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

पीड़ित अरविंद उरांव पिता नागेश्वर उरांव ने बताया कि मेरे मोबाइल नंबर 9334899168 पर 6297081 456 से फोन आया और बताया गया कि आपकी कोविड-19 की खुराक पूरी हो गई है। मैं सदर अस्पताल से बोल रहा हूं। खुराक पूरी होने के बाद भी अभी तक आपका वैक्सीन कार्ड नहीं बना है। आगे कहा कि आपके मोबाइल पर एक ओटीपी नंबर आया है, आप मुझे वो ओटीपी नंबर बताओ।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

मैंने बिना कुछ समझे उसे ओटीपी नंबर बता दिया। जिसके बाद मेरे मोबाइल नंबर 9334899168 एयरटेल पेमेंट बैंक अकाउंट से 88 हजार रुपये कट गए। उसके कुछ देर बाद उसी खाते से 1198 रुपये कट गए। इसके बाद मुझे समझ आया कि मैं साइबर फ्रॉड का शिकार हो गया हूं।

युवक ने बताया कि इस बात की शिकायत लेकर जब मैं हेरहंज थाने में गया तो ड्यूटी पर तैनात अधिकारी ने मेरा आवेदन लेने से मना कर दिया। जिसके बाद मैं वापस घर लौट गया। ठगी के शिकार युवक ने पुलिस प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।