Breaking :
||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति

कोविड वैक्सीन कार्ड बनाने के नाम पर साइबर अपराधियों ने ग्रामीण युवक के खाते से उड़ाए 90 हजार रुपये, थाना ने आवेदन लेने से किया इनकार

लातेहार : हेरहंज थाना क्षेत्र के लावागड़ा गांव निवासी अरविंद उरांव के खाते से आज साइबर अपराधियों ने कोविड वैक्सीन कार्ड बनवाने के नाम पर 90 हजार रुपये की ठगी की। इस मामले को लेकर जब पीड़ित युवक शिकायत लेकर थाने गया तो मौके पर बैठे अधिकारी ने आवेदन लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद युवक मायूस होकर अपने गांव लौट गया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

पीड़ित अरविंद उरांव पिता नागेश्वर उरांव ने बताया कि मेरे मोबाइल नंबर 9334899168 पर 6297081 456 से फोन आया और बताया गया कि आपकी कोविड-19 की खुराक पूरी हो गई है। मैं सदर अस्पताल से बोल रहा हूं। खुराक पूरी होने के बाद भी अभी तक आपका वैक्सीन कार्ड नहीं बना है। आगे कहा कि आपके मोबाइल पर एक ओटीपी नंबर आया है, आप मुझे वो ओटीपी नंबर बताओ।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

मैंने बिना कुछ समझे उसे ओटीपी नंबर बता दिया। जिसके बाद मेरे मोबाइल नंबर 9334899168 एयरटेल पेमेंट बैंक अकाउंट से 88 हजार रुपये कट गए। उसके कुछ देर बाद उसी खाते से 1198 रुपये कट गए। इसके बाद मुझे समझ आया कि मैं साइबर फ्रॉड का शिकार हो गया हूं।

युवक ने बताया कि इस बात की शिकायत लेकर जब मैं हेरहंज थाने में गया तो ड्यूटी पर तैनात अधिकारी ने मेरा आवेदन लेने से मना कर दिया। जिसके बाद मैं वापस घर लौट गया। ठगी के शिकार युवक ने पुलिस प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।