Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
चंदवालातेहार

वृद्ध दंपत्ति के खाते से अवैध रूप से निकाली पेंशन राशि, कार्रवाई की मांग

लातेहार : चंदवा के हुटाप पंचायत अंतर्गत भदईटांड़ गांव निवासी कृष्णा टोपनो व उनकी पत्नी सुबासी देवी के खाते से मार्च माह में अवैध रूप से पैसे की निकासी की गयी है। खाताधारक को इस बात की जानकारी तब हुई जब वह सोमवार को चंदवा स्थित एसबीआई बैंक पैसे निकालने पहुंचे।

इस संबंध में पीड़ित पति पत्नी और उनके पोते रोहित टोपनो ने बताया कि पिछले साल दिसंबर से कृष्णा मुंडा घर से कहीं बाहर नहीं निकले। इसके बावजूद 3 मार्च को उनके खाते से 7 हजार रुपये निकल चुके हैं। इसी तरह उनकी पत्नी सुबासी देवी भी भदईटांड़ से बाहर नहीं निकली। इसके बावजूद 3 मार्च को ही उनके खाते से भी 7 हजार रुपये निकल चुके हैं। वृद्धावस्था पेंशन की राशि दोनों वृद्धों के खाते में आती है।

पोते रोहित टोपनो के मुताबिक पहली बार अवैध रूप से पैसे की निकासी नहीं हुई है। पूर्व में भी वर्ष 2020 में इनके खाते से क्रमश: 8 हजार रुपये और 5 हजार रुपये की अवैध निकासी की जा चुकी है। रोहित टोपनो ने बताया कि वह इस समस्या को लेकर एसबीआई की मेन रोड ब्रांच गए थे। बैंक में ही उन्हें सूचना मिली थी कि 3 मार्च को उनके खातों से अवैध निकासी की गई है।

रोहित ने बताया कि बैंकरों ने आवेदन लेने से इनकार कर दिया। उन्होंने सुभाष चौक स्थित प्रज्ञा केंद्र में आवेदन करने की बात कही, जहां से उन लोगों ने खाता खुलवाया था। पीड़ित इस बात से परेशान हैं कि उनके हिस्से की राशि अवैध रूप से निकाली जा रही है। उन लोगों ने एसबीआई की बैंकिंग सेवा से अपना खाता खुलवाया था। खाता खोलने वाले का नाम कुणाल मिस्त्री के रूप में दिखाया गया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

बता दें कि इन दिनों कई राष्ट्रीयकृत बैंक प्रज्ञा केंद्र को काम करने का लाइसेंस दे रहे हैं। प्रज्ञा केंद्र अपने निर्धारित व निश्चित स्थान से दूर शहर में अवैध रूप से केंद्र संचालित कर रहे हैं। बड़ी मात्रा में वृद्धावस्था पेंशन और मनरेगा श्रमिकों के हक का चालाकी से हेराफेरी किया जा रहा है। वृद्ध दंपत्ति ने भारतीय स्टेट बैंक की चंदवा शाखा से अवैध निकासी से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराने की मांग करते हुए मदद की अपील की है।