Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

प्रशासन व जनप्रतिनिधियों ने नहीं ली सुध तो ग्रामीणों ने श्रमदान से की जर्जर सड़क की मरम्मत

संजय राम/बारियातू

लातेहार : बरियातू प्रखंड अंतर्गत सिबला पंचायत के बाराखर के दर्जनों ग्रामीणों ने श्रमदान से चार किमी तक जर्जर सड़क की मरम्मत की। ग्रामीण कुलदीप गंझू, बुधन गंझू, सुधन गंझू, रघुनाथ गंझू, तपन गंझू, संतोष गंझू व अन्य ग्रामीणों ने बताया कि दो गांव बेसरा व कुशमाहा बाराखर है। जहां एक सौ से अधिक घरों में आदिवासी व गंझू समुदाय के लोग निवास करते हैं।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यह टोला बेसरा और कुसमाहा से लगभग चार किमी की दूरी पर स्थित है। सरकारी योजना से आज तक सड़क का निर्माण नहीं हो पाया है, जिससे यहां के लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी होती है। पिछले कई सालों से त्यौहारों के मौके पर श्रमदान कर चलने लायक बनाते हैं। लेकिन हर साल बरसात के मौसम में यह बह जाता है।

चार साल पहले बाराखर के एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी और सड़क न होने के कारण एंबुलेंस गांव तक नहीं पहुंच पाई थी, इसलिए ग्रामीणों को शव को चारपाई से गांव ले जाना पड़ा। यहां सड़कें न होने से दैनिक कामकाज, यातायात की समस्या के साथ-साथ छात्रों का शिक्षण कार्य भी पूरी तरह से प्रभावित है। लेकिन अब तक उक्त जनसमस्या पर अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पिछले कई सालों से सड़क की समस्या को लेकर मामला सुर्खियों में बना हुआ है। हर साल सड़क की मरम्मत नहीं हुई तो लोगों का पैदल चलना मुश्किल हो जाएगा।

उधर, पूर्व उप मुखिया सुबोध कुमार सिंह ने कहा कि अपने कार्यकाल से अब तक वे सड़क नहीं होने की सूचना प्रखंड प्रशासन को देते रहे हैं, लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। ग्रामीणों ने उपायुक्त, विधायक व सांसद से सड़क निर्माण कराने की मांग की है।