Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार: बिजली कर्मियों के उदासीन रवैये से सैकड़ों घरों में छाया अंधेरा, खुद ही तार को दुरुस्त करने में जुटे ग्रामीण

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : ज़िले के सरयू प्रखंड अंतर्गत कोरवाटोली, डोरम एवं ऊबका गांव में विगत 8 माह से विधुत सेवा बाधित है. जिससे उक्त गांव के सैकड़ों ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

इस संबंध में गांव के ग्रामीणों ने बताया कि जब से गांव में विधुत सेवा बहाल हुई है. तब से ही बिजली की आंख-मिचौली का खेल-खेल रही है. लेकिन इस समस्या को लेकर विभाग बिल्कुल भी गंभीर दिखाई नही दे रहा है.

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों ने बताया कि फाल्ट आने के बाद बिजली कर्मियों के द्वारा तार को दुरुस्त तो किया जाता है. लेकिन ठीक करने के महज कुछ ही घंटों बाद दुबारा से फॉल्ट आ जाता है. यह समस्या गांव में विधुत सेवा बहाल होने के शुरुआती दौर से ही चली आ रही है.

ग्रामीण तेतर सिंह, गजेंद्र सिंह, मनेश सिंह समेत अन्य लोगो ने बताया कि कोरवाटोली, डोरम एवं ऊबका गांव में विगत 8 माह से विधुत सेवा ठप है. चुकी गांव तक पहुँची बिजली के केवल में फाल्ट आ गया है. ग्रामीणों के द्वारा विभाग को लिखित आवेदन देकर नये केबल की मांग की गयी थी. लेकिन विभाग की तरफ से अबतक मुहैया नही कराया गया है. लिहाजा गांव के ग्रामीण ख़ुद की खराब पड़े तार को दुरुस्त करने में जुटे हुए है.

ग्रामीण बताते है कि गांव में बिजली नही होने के कारण बच्चो के पठन-पाठन, मोबाइल चार्ज करने समेत कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है. विभागीय कर्मियों के उदासीन रवैये से तंग ग्रामीण अब ख़ुद ही बिजली तार को दुरुस्त कर गांव में बिजली सेवा बहाल करने के लिए जद्दोजहद कर रहे है.

जानकारी देते चले कि इस गावों में विगत 8 महीने से बिजली नही होने के कारण गांव के कई ग्रामीण विभाग को घर मे लगे बिजली का मीटर तक जमा कर दिए है .चुकी ग्रामीणों का कहना है कि गांव में बिजली नही है. बावजूद उनसे बिजली बिल भरने को कहा जा सकता है. लिहाजा इस डर से ग्रामीण मीटर तक बिजली विभाग को जमा कर दिया है.

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बता दे कि गांव के दर्जनों ग्रामीण एकजुट होकर बिजली तार को दुरुस्त कर गांव तक विधुत सेवा बहाल करने के लिए कार्य कर रहे है. ग्रामीणों ने बिजली विभाग के वरीय पदाधिकारियों से मांग की है कि समस्या की गंभीरता को देखते हुए,खराब पड़े वायर को दुरुस्त कर गांव में बिजली सेवा बहाल किया जाय। ग्रामीणों ने कहा विभागीय कर्मियों को इस कार्य में ग्रामीणों का भरपूर सहयोग मिलेगा।