Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
बरवाडीहलातेहार

वन विभाग के अधीन काम करने वाले गृह रक्षकों को लंबे समय से नहीं मिला मानदेय

Latehar Forest Department

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : पलामू व्याघ्र परियोजना अंतर्गत वन विभाग के अधीन काम करने वाले गृह रक्षकों को लंबे समय से उनका मानदेय नहीं मिला है। जिस कारण गृह रक्षकों के सामने जीवन-यापन और परिवार के भरण-पोषण में भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

वन विभाग के अधीन काम करने वाले गृह रक्षकों की मानें तो अप्रैल 2021 के बाद उनका मानदेय उन्हें नहीं मिल पाया है। जिसके कारण भारी परेशानी के बीच परिवार का जीवन यापन और कर्ज लेकर बीमारी परेशानी के साथ-साथ पर्व त्यौहार को बिताना पड़ रहा है। वही अब होली का बड़ा पर्व भी सभी गृह रक्षकों के सामने हैं और ऐसे समय में एक बार फिर से एक बड़ा संकट आ चुका है।

झारखंड के रक्षक संघ के जिला उपाध्यक्ष इस्माइल अंसारी और जिला कार्यकारिणी के प्रदीप कुमार सिंह ने वन विभाग के अधीन काम करने वाले गृह रक्षकों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को जानने का प्रयास किया। साथ ही इस मामले को लेकर प्रदेश कमेटी को अवगत कराने और स्थानीय विधायक से मुलाकात कर वन विभाग के अंतर्गत काम करने वाले गृह रक्षकों के मानदेय भुगतान करवाने की मांग करने की बात कही।

इधर, पूरे मामले को लेकर रेंजर प्रेम प्रसाद ने बताया कि वन विभाग के अधीन काम करने वाले गृह रक्षकों के मानदेय भुगतान को लेकर आवंटन का अभाव है। आवंटन को लेकर विभाग के वरीय अधिकारियों के माध्यम से पत्राचार किया गया है। प्रयास किया जा रहा है कि जल्द ही बकाया मानदेय का भुगतान किया जा सके।

Latehar Forest Department


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *