Breaking :
||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर
Sunday, February 25, 2024
गारूलातेहार

गारू के कोटाम में ऐतिहासिक केसरा चंडी जतरा महोत्सव का आयोजन

रामकुमार/लातेहार

लातेहार : गारू प्रखंड के अंतर्गत कोटाम में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी केसरा चंडी जतरा पूजा का आयोजन किया गया। जिसमे गारू प्रखंड के सैकड़ों गांव के ग्रामीण मौजूद हुए।

कोटाम गांव के बैगा मदन सिंह ने बताया की केसरा चंडी जतरा महोत्सव लगभग सत्रह सौ इसवी से राजा केसरा की याद में मनाया जाता है। आगे बताया की कोटाम के ठूठा बैगा केसरा को अपना देवता मान लिया था। ठूठा बैगा का मानना था की केसरा चंडी आसपास के इलाके के लिए देवता स्वरूप थे।

उन्होंने इस क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत भलाई का काम किया था। जिसके चलते लोग देवता मान कर उनकी पूजा करने लगे थे। आज भी ठूठा बैगा के पूर्वज के द्वारा हर साल चैत पूर्णिमा की रात और बैशाख मास के प्रथम दिन में केसरा चंडी जतरा पूजा महोत्सव का आयोजन किया जाता है।

8000 से कम कीमत में मिल रहा है ये दमदार बैटरी बैकअप वाला फ़ोन

इस महोत्सव में गारू प्रखंड के सेकड़ों गांव से ग्रामीण केसरा चंडी का पूजा अर्चना करते हैं और उनके याद में एक दिन का जतरा महोत्सव का आयोजन किया जाता है। जिसमे गांव के लोग पहुंच कर अपना आदिवासी परंपरा के द्वारा नृत्य गान प्रस्तुत कर केसरा चंडी जतरा को सफल बनाते हैं।

केसरा चंडी जतरा महोत्सव समिति के अध्यक्ष ध्रीपाल सिंह ने बताया की हर वर्ष की तरह इस बार भी विभिन्न गांव से नृत्य मंडली के सदस्य पहुंचे और अपना कार्यक्रम प्रस्तुत किया। साथ ही लातेहार जिले के प्रख्यात आदिवासी कलाकार सुखदेव सिंह भी जतरा महोत्सव में आकर अपना सुंदर नृत्य और संगीत प्रस्तुत कर जतरा महोत्सव के चार चांद लगा दिया। सभी नृत्य मंडली के बीच पुरस्कार वितरण किया गया।

8000 से कम कीमत में मिल रहा है ये दमदार बैटरी बैकअप वाला फ़ोन

मौके पर गारू थाना प्रभारी राजीव कुमार भगत, शाहिद अंसारी, अमीन उरांव, केसरा चंडी जतरा महोत्सव समिति के सचिव मंगल उरांव, कोटाम मुखिया सह समिति के कोषाध्यक्ष सुधराम उरांव, योगेंद्र सिंह, रघुवर सिंह, बद्री सिंह आदि सदस्य समेत विभिन्न गांवों के ग्रामीण मौजूद थे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें