Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

गारू के कोटाम में ऐतिहासिक केसरा चंडी जतरा महोत्सव का आयोजन

रामकुमार/लातेहार

लातेहार : गारू प्रखंड के अंतर्गत कोटाम में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी केसरा चंडी जतरा पूजा का आयोजन किया गया। जिसमे गारू प्रखंड के सैकड़ों गांव के ग्रामीण मौजूद हुए।

कोटाम गांव के बैगा मदन सिंह ने बताया की केसरा चंडी जतरा महोत्सव लगभग सत्रह सौ इसवी से राजा केसरा की याद में मनाया जाता है। आगे बताया की कोटाम के ठूठा बैगा केसरा को अपना देवता मान लिया था। ठूठा बैगा का मानना था की केसरा चंडी आसपास के इलाके के लिए देवता स्वरूप थे।

उन्होंने इस क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत भलाई का काम किया था। जिसके चलते लोग देवता मान कर उनकी पूजा करने लगे थे। आज भी ठूठा बैगा के पूर्वज के द्वारा हर साल चैत पूर्णिमा की रात और बैशाख मास के प्रथम दिन में केसरा चंडी जतरा पूजा महोत्सव का आयोजन किया जाता है।

8000 से कम कीमत में मिल रहा है ये दमदार बैटरी बैकअप वाला फ़ोन

इस महोत्सव में गारू प्रखंड के सेकड़ों गांव से ग्रामीण केसरा चंडी का पूजा अर्चना करते हैं और उनके याद में एक दिन का जतरा महोत्सव का आयोजन किया जाता है। जिसमे गांव के लोग पहुंच कर अपना आदिवासी परंपरा के द्वारा नृत्य गान प्रस्तुत कर केसरा चंडी जतरा को सफल बनाते हैं।

केसरा चंडी जतरा महोत्सव समिति के अध्यक्ष ध्रीपाल सिंह ने बताया की हर वर्ष की तरह इस बार भी विभिन्न गांव से नृत्य मंडली के सदस्य पहुंचे और अपना कार्यक्रम प्रस्तुत किया। साथ ही लातेहार जिले के प्रख्यात आदिवासी कलाकार सुखदेव सिंह भी जतरा महोत्सव में आकर अपना सुंदर नृत्य और संगीत प्रस्तुत कर जतरा महोत्सव के चार चांद लगा दिया। सभी नृत्य मंडली के बीच पुरस्कार वितरण किया गया।

8000 से कम कीमत में मिल रहा है ये दमदार बैटरी बैकअप वाला फ़ोन

मौके पर गारू थाना प्रभारी राजीव कुमार भगत, शाहिद अंसारी, अमीन उरांव, केसरा चंडी जतरा महोत्सव समिति के सचिव मंगल उरांव, कोटाम मुखिया सह समिति के कोषाध्यक्ष सुधराम उरांव, योगेंद्र सिंह, रघुवर सिंह, बद्री सिंह आदि सदस्य समेत विभिन्न गांवों के ग्रामीण मौजूद थे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें