Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
गारूलातेहार

पुलिस द्वारा आदिवासी किसान से मारपीट मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने पहुंचे ग्रामीण, पुलिसिया वार्ता को बताया असंतोषजनक

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू थाना क्षेत्र के कुकु गांव निवासी आदिवासी किसान अनिल सिंह की पुलिस द्वारा किये गए मारपीट मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने को लेकर आज ग्रामीण छिपादोहर थाना पहुँचे। जिसमें पीड़ित अनिल सिंह, गणेशपुर पंचायत की मुखिया देवंती देवी, कुकु गांव के ग्राम प्रधान गंगेश्वर सिंह समेत अन्य लोग शामिल थे।

पीड़ित अनिल सिंह ने अपने आवेदन में लिखा है कि थाना में मुझ आदिवासी को बेरहमी से पीटने के दोषी गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव के विरुद्ध SC-ST अत्याचार निवारण समेत अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कारवाई करें।

अनिल सिंह ने बताया कि वहां मौजूद बरवाडीह डीएसपी दिलू लोहरा, इंस्पेक्टर चंदशेखर चौधरी, छिपादोहर थाना प्रभारी विश्वजीत तिवारी से उनकी वार्ता हुई। अनिल ने बताया कि वे पुलिस की आश्वासन से संतुष्ट नही है. पुलिस पूरे मामले को लेकर गोलमोल जवाब दे रही है। जबकि मामला पूरी तरह स्पष्ट है।

वही मुखिया देवंती देवा एवं ग्राम प्रधान गंगेश्वर सिंह ने पुलिस से हुई वार्ता को असंतोषजनक बताया है। हालांकि इस मामले की जांच के लिए एक टीम का गठन किया गया है। जो इस पूरे मामले की जांच कर रही है। इधर पुलिसिया मनमानी के खिलाफ ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ता नजर आ रहा है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *