Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

माओवादियों का सहयोगी बताकर आदिवासी किसान की पिटाई मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लिया संज्ञान, दोषियों पर कारवाई का दिया आदेश

Latehar News Hemant Soren

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव के द्वारा माओवादियों का मददगार बताकर गारू थाना क्षेत्र के कुकु गांव निवासी 42 वर्षीय आदिवासी किसान अनिल सिंह की पिटाई मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संज्ञान लिया है.

संबंधित मामले को लेकर अविनाश चंचल नामक ट्विटर यूजर के पोस्ट को मुख्यमंत्री ने झारखंड पुलिस को टैग कर कहा है कि मामले का तत्काल संज्ञान लेते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कारवाई करते हुए सूचित करें।

गौरतलब हो कि थाना प्रभारी के द्वारा अनिल सिंह की पिटाई से उसके शरीर के पिछले हिस्सों में कई गहरे निशान पड़ गये हैं. घटना बुधवार अर्द्धरात्रि की है.

अनिल का आरोप है कि बुधवार की रात तकरीबन एक बजे गारू थाना प्रभारी उसके घर आये और उसे थाने लेकर जाकर पार्टी वाले को मदद करने का आरोप लगाते हुए लगभग तीन से चार सौ लाठियां उसके शरीर के पिछले हिस्से में मारी गयी. जिससे उसके शरीर पर कई निशान बन गये हैं.

अनिल ने कहा कि थाना प्रभारी ने पिटाई करने के बाद कहा कि गलती से तुम्हें थाना लाया गया था. थाना प्रभारी ने उसे इलाज का खर्च देने की बात कहकर छोड़ दिया था.

बहरहाल पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सख्त नजर आ रहे है. उन्होंने जांचकर दोषियों पर कड़ी कारवाई का आदेश दिया है. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि आरोपी थानेदार रंजीत कुमार यादव पर क्या कुछ कार्रवाई होती है।

Latehar News Hemant Soren


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *