Breaking :
||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी

माले विधायक विनोद सिंह ने सदन में उठाया आदिवासी युवक की पिटाई का मामला, संबंधित पुलिसकर्मियों पर की कारवाई की मांग

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव ने नक्सलियों का मददगार बताकर कुकु गांव निवासी 42 वर्षीय आदिवासी किसान अनिल सिंह की जमकर पिटाई कर दी थी. इस पिटाई से अनिल सिंह के शरीर के पिछले हिस्से में चोट के गहरे निशान पड़ गये थे। .

पुलिस की इस कारवाई से जहाँ ग्रामीणों में दहशत का माहौल है. वही सामाजिक, राजनीतिक समेत अन्य लोग भी इस कारवाई की कड़ी निंदा कर रहे है.

इधर, इस मामले को लेकर माले विधायक विनोद सिंह ने सदन में सवाल उठाया है. विधायक श्री सिंह ने कहा पुलिस बेवजह आदिवासी किसान अनिल सिंह को घर से उठाकर थाने ले जाती है और वहाँ नक्सलियों का सहयोगी बताकर उसे बड़ी बेरहमी से पिटाई करते हैं और बाद में यहकर छोड़ देते हैं कि गलती से तुमको उठाकर ले आये है. थानाध्यक्ष पीड़ित से यह कहते है कि पिटाई की बात किसी से मत कहना तुम्हे दवा का पैसा मिल जाएगा।

श्री सिंह ने कहा इसी गारू थाना क्षेत्र के गनईखाड़ में सुरक्षा बलों ने गलती से आदिवासी युवक ब्रह्मदेव सिंह की हत्या कर दी थी. उस मामले की भी अबतक जांच पूरी नही हुई है और न ही किसी पर कारवाई हुई है. और अब यह दूसरी घटना हुई है.

अखबार में अनिल सिंह की लहूलुहान तस्वीर छपी है. सरकार तत्काल इस पूरे मामले पर कारवाई करे साथ ही पीड़ित को मुआवजा दे। और तत्काल थाना प्रभारी पर कठोर कारवाई करे। बहरहाल इस पूरे मामले को लेकर एक जांच टीम का गठन किया है, जो इस मामले की जांच कर वरीय पुलिस पदाधिकारी को रिपोर्ट सौंपेगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *