Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
गारूलातेहार

लातेहार: बुजुर्ग आदिवासी महिला पेंशन राशि से वंचित, प्रशासन से मदद की गुहार

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : जिले के गारू प्रखंड अंतर्गत धांगरटोला पंचायत के बेसनाखाड़ गांव निवासी बुजुर्ग आदिवासी महिला मुनिया कुमारी विधवा पेंशन राशि से वंचित है। जिससे उक्त महिला को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Kidzee AD

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस संबंध में मुनिया कुमारी ने बताया कि विधवा पेंशन राशि नहीं मिलने के कारण वह इलाज नहीं करा पा रही है। वह बताती हैं कि पहले उनके खाते में पेंशन की राशि आ रही थी। लेकिन इधर लंबे समय से उसे पेंशन की राशि नहीं मिल रही है। इसके लिए वह कई बार पंचायत प्रतिनिधियों से मदद मांग चुकी हैं। लेकिन आज तक उसकी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। जिससे मुनिया कुमारी को भरण-पोषण के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इधर सरकार ऐसे तमाम योजनाओं को लाभ ग्रामीणों को मुहैय्या कराने के लिए सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन कर रही है। बावजूद इसके ग्रामीणों को इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। जो पूरी तरह से सरकार की योजना पर ही निर्भर है। ऐसे ग्रामीणों को सरकारी लाभ से वंचित करना स्थानीय प्रशासन पर सवालिया निशान है। मुनिया कुमारी ने जिला प्रशासन से पेंशन राशि को दोबारा शुरू कराने की मांग की है।