Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

ठनका गिरने से आठ मवेशियों की मौत, आपदा प्रबंधन से क्षतिपूर्ति की मांग

प्रदीप यादव/हेरहंज

लातेहार : जिले के हेरहंज प्रखण्ड मुख्यालय स्थित पुरनी हेरहंज (रेजवा) में शुक्रवार को तेज बारिश के साथ वज्रपात हुई। जिससे आठ मवेशियों की मौके पर ही मौत हो गई।

इस हादसे में किसान बसों लोहरा की एक गाय, चंदन गंझू के दो बैल, पंकज गंझू का एक बछड़ा, सरयू गंझू की दो गाय व गोला गंझू की एक गाय व बछड़े की जान चली गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि सभी मवेशी तेज बारिस से बचने के लिए एक जामुन के पेड़ के नीचे छिपे हुए थे। इस दौरान तेज बारिश के साथ हुई। जिसमें सभी आठ मवेशियों की मौत मौके पर ही हो गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पीड़ित किसान इस घटना से काफी दुःखी हैं। उनका कहना है कि बैल की मौत हो जाने से खेती बारी प्रभावित होगी। जबकि दुधारू गाय व बछड़े की मौत ने हमें बर्बाद कर दिया। खेती बारी के साथ साथ अब घर के छोटे-छोटे बच्चों के पालन-पोषण की समस्या भी उत्पन्न हो गयी। किसानों ने आपदा प्रबंधन विभाग से क्षति पूर्ति की भरपाई की मांग की है।