Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
लातेहारहेरहंज

ठनका गिरने से आठ मवेशियों की मौत, आपदा प्रबंधन से क्षतिपूर्ति की मांग

प्रदीप यादव/हेरहंज

लातेहार : जिले के हेरहंज प्रखण्ड मुख्यालय स्थित पुरनी हेरहंज (रेजवा) में शुक्रवार को तेज बारिश के साथ वज्रपात हुई। जिससे आठ मवेशियों की मौके पर ही मौत हो गई।

इस हादसे में किसान बसों लोहरा की एक गाय, चंदन गंझू के दो बैल, पंकज गंझू का एक बछड़ा, सरयू गंझू की दो गाय व गोला गंझू की एक गाय व बछड़े की जान चली गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि सभी मवेशी तेज बारिस से बचने के लिए एक जामुन के पेड़ के नीचे छिपे हुए थे। इस दौरान तेज बारिश के साथ हुई। जिसमें सभी आठ मवेशियों की मौत मौके पर ही हो गई।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पीड़ित किसान इस घटना से काफी दुःखी हैं। उनका कहना है कि बैल की मौत हो जाने से खेती बारी प्रभावित होगी। जबकि दुधारू गाय व बछड़े की मौत ने हमें बर्बाद कर दिया। खेती बारी के साथ साथ अब घर के छोटे-छोटे बच्चों के पालन-पोषण की समस्या भी उत्पन्न हो गयी। किसानों ने आपदा प्रबंधन विभाग से क्षति पूर्ति की भरपाई की मांग की है।