Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

मोबाइल बैंकिंग से विकलांग बुजुर्ग के खाते से 6000 की ठगी, कारवाई की मांग

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : ज़िले के गारू प्रखंड अंतर्गत कोटाम पंचायत से मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से ठगी करने का मामला उजागर हुआ है। मामले का खुलासा ख़ुद कोटाम निवासी भुक्तभोगी बुजुर्ग विकलांग जगरनाथ साव ने किया है।

इस संबंध में विकलांग जगरनाथ साव ने बताया कि वृद्धा पेंशन का राशि खाता में आया हुआ था। जिसे निकालने के लिए वह कोटाम निवासी रौशन कुमार के यहां गये थे। जहाँ कई बार फिंगरप्रिंट लेने के बाद लिंक काम नही करने का हवाला देते हुए वापस घर भेज दिया गया। बाद में नजदीकी बैंक में जाकर पासबुक अपडेट करने पर पता चला कि खाते से लगभग 6 हजार रुपये की निकासी रौशन कुमार नामक फोन बैंकिंग संचालक के यहां से हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बहरहाल उक्त फ़ोन बैंकिंग संचालक पर कई अन्य लोगों से भी फर्जी निकासी का आरोप स्थानीय ग्रामीणों ने लगाया है। आपको जानकारी देते चले कि फ़ोन बैंकिंग के माध्यम से इनदिनों ठगी के मामले लगातार सामने आ रहे है। लेकिन ऐसे लोगो पर कार्रवाई नही होने के कारण इनकी तादाद बढ़ रही है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

लिहाजा भोले-भाले आदिवासियों का पैसा निकासी कर लिया जा रहा है। क्यों कि अशिक्षित होने के कारण उन्हें समय से पैसा निकासी होने की जानकारी नही मिल पाती है। बहरहाल विकलांग बुजुर्ग जगरनाथ शाव ने संबंधित फ़ोन बैंकिंग संचालक पर जांच कर कारवाई करने की मांग की है।