Breaking :
||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान||लातेहार: बालूमाथ में फिर एक विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी

महापर्व छठ की तैयारी शुरू, पंचायत समिति सदस्य के सौजन्य से शुरू हुई घाट की सफाई

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : छठ पूजा को कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसे में घाटों की सफाई का काम शुरू हो गया है। इसी कड़ी में गारू की कोयल नदी पर बन रही पानी की टंकी के पास छठ घाट बनाया जा रहा है। जिसकी सफाई की शुरुआत धांगरटोला पंचायत समिति सदस्य बरखा कुमारी के सौजन्य से कराया जा रहा है।

बता दें कि आज यानी गुरुवार को बरखा कुमारी के सहयोग से जेसीबी मशीन लगाकर घाट की सफाई करायी गयी है। पिछले साल की तुलना में इस साल छठ घाट के स्थल में बदलाव किया गया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस संबंध में पंचायत समिति सदस्य बरखा कुमारी ने कहा कि छठ भक्तों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इस बात को ध्यान में रखते हुए इस बार निर्माणाधीन पानी टंकी के पास छठ घाट के लिए स्थल का चयन किया गया है। जिसकी सफाई आज से शुरू कर दी गयी है। छठ व्रतियों की संख्या का अनुमान लगाना कठिन है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हालांकि इस बार छठ घाट के लिए कोयल नदी के आसपास इसके अलावा और कोई जगह किसी ने सुझाई नहीं है। इधर छठ में मिट्टी के चूल्हे बनाने का भी बहुत महत्व है। ऐसे में पवित्र मिट्टी को इकट्ठा कर चूल्हे बनाने का काम भी शुरू हो गया है।