Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

छिपादोहर पुलिस और वन विभाग की टीम ने 8 बोरे से अधिक केंदू पत्ता किया जब्त

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : जिला पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन के निर्देश पर छिपादोहर पुलिस व वन विभाग की टीम ने शनिवार को चुंगरु पंचायत में छापामारी कर 8 बोरा से अधिक अवैध केंदू पत्ता जब्त किया है।

थाना प्रभारी विश्वजीत तिवारी ने कहा की छिपादोहर थाना क्षेत्र से एक बोरी भी अवैध केंदू पत्ता बाहर नही जाने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंदू पत्ता खरीद-बिक्री में जितने भी लोग शामिल है, सभी को जल्द ही जेल में डाल दिया जायेगा। कहा कि छिपादोहर पुलिस की बीड़ी पत्ता के खिलाफ लगातार छापामारी जारी रहेगी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उधर कार्रवाई देख कर अवैध कारोबारियों मे हड़कंप मच गया है। जब्त किया गया केंदू पत्ता को छिपादोहर वन कार्यालय में रखा गया है।

इधर, अवैध केंदू पत्ता तोड़ने और व्यवसाय करने के मामले में पुलिस और वन विभाग की कार्रवाई जो किया गया उसमे 8 बोरे से अधिक बीड़ी पता जब्त किया गया है। मामले में जो भी लोग शामिल होंगे उनपर वन्यजीव संरक्षन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

थाना प्रभारी विश्वजीत तिवारी ने बताया कि केंदू पत्ता किस संवेदक का है उसका पता लगाया जा रहा है।

इस छापामारी में वनपाल नंद कुमार मेहता, सब इंस्पेक्टर भीम कुमार, वनरक्षी अमित कुमार, राजू कुमार दास समेत पुलिस बल के जवान और वन विभाग की टीम शामिल थी।