Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

शिक्षा मंत्री व उपायुक्त से बीआरसी भवन का आधार केंद्र खोलने की मांग, छात्रों व अभिभावकों को हो रही परेशानी

Barwadih news DC BRC Aadhaar

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : निजी स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई के लिए नामांकन शुरू हो गया है। साथ ही सरकारी स्कूल में परीक्षा के बाद नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। लेकिन अभिभावक बच्चों के आधार कार्ड को लेकर काफी परेशान हैं।

बरवाडीह प्रखंड मुख्यालय में संचालित एकमात्र आधार केंद्र कभी ऑपरेटर की कमी तो कभी तकनीकी कारण से बंद रहता है। वहीं राज्य सरकार के निर्देश पर शिक्षा विभाग के द्वारा बीआरसी भवन में खोला गया आधार केंद्र लंबे समय से बंद पड़ा है। जिस कारण आधार बनवाने और सुधारने में खासी मानसिक परेशानी बच्चे और उनके अभिभावकों को झेलना पड़ रहा है।

कई अभिभावक आधार बनवाने को लेकर दूसरे शहरों और जिला मुख्यालय का चक्कर काट रहे हैं। जिसके लिए उन्हें अच्छी खासी कीमत चुकानी पड़ रही। जबकि जिला शिक्षा अधीक्षक के द्वारा बीते दो माह पूर्व प्रखंड में आयोजित बैठक के दौरान बीआरसी के आधार केंद्र को खोलने का निर्देश भी दिया गया था।

इस मामले को लेकर प्रखंड की महिला समाजसेवी संतोषी शेखर के द्वारा राज्य के शिक्षा मंत्री के साथ-साथ जिले के उपायुक्त से प्रखंड मुख्यालय के बीआरसी भवन में बंद पड़े आधार केंद्र को जल्द से जल्द शुरू कराने की मांग की है।

साथ ही प्रखंड परिसर में संचालित आधार केंद्र के स्थाई ऑपरेटर देने की भी मांग की है। ताकि ऑपरेटर की समस्या के कारण विभिन्न पंचायतों से आने वाले ग्रामीणों और अभिभावकों को परेशानी से निजात मिले।

ज्ञात है कि प्रखंड के सुदूरवर्ती इलाकों से आधार बनवाने को लेकर रोजाना ग्रामीण आते हैं जिसके लिए ग्रामीणों को अच्छा खासा किराया भी आने जाने में खर्च करना पड़ता है। लेकिन आधार केंद्र के बंद रहने के कारण उन्हें वापस निराश होकर लौटना पड़ रहा है।

Barwadih news DC BRC Aadhaar


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *