Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Thursday, April 18, 2024
बरवाडीहलातेहार

बरवाडीह में बंद केंदू पत्ता खलिहान शुरू करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड क्षेत्र के पलामू व्याघ्र परियोजना अंतर्गत आने वाले वन क्षेत्रों में लंबे समय से केंदू पत्ते की तुड़ाई बंद है। जिसके कारण प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत लगभग 2000 से अधिक निबंधित मजदूर पत्ते की तुड़ाई नहीं होने के कारण बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं।

इसे लेकर प्रखण्ड की महिला समाजसेवी सन्तोषी शेखर ने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, स्थानीय विधायक और नेता प्रतिपक्ष को पत्र लिखकर वन प्रमंडल अंतर्गत आने वाले प्रखंड क्षेत्र के 14 खलिहानों को शुरू करने की अनुमति देने की मांग की है।

सन्तोषी शेखर ने बताया कि केंदू पत्ता की तुड़ाई कर जहां स्थानीय मजदूर काफी खुशहाल रहते थे। इस कार्य से we लगभग 6 महीने तक के जीवन यापन करने की राशि जमा कर लेते थे। शादी विवाह जैसे पारिवारिक कार्यक्रम को लेकर भी रकम जमा कर लेते थे।

लेकिन दुर्भाग्य से जिस पत्ते की तुड़ाई से वन क्षेत्र को कोई नुकसान नहीं उन पत्तों की तुड़ाई पर रोक लगाकर मजदूरों को पलायन करने पर मजबूर कर दिया गया है। जिस पर स्थानीय जनप्रतिनिधि और सरकार को मजदूरों के हित में ध्यान देते हुए सकारात्मक फैसला लेकर तुड़ाई की अनुमति दी जानी चाहिए।

ताकि प्रखंड क्षेत्र के कुटमु, सरईडीह, कचनपुर, पोखरी खुर्द, कोलपुरवा, बरवाडीह, लुहुर, बभंडी, ततहा, मंडल, सिधोरवा, लेदगाई, होरीलोग, पैरा में केंदु पत्ते के तुड़ाई औऱ संग्रह का काम शुरू हो औऱ सैकड़ो मजदूरों के जीवन स्तर में सुधार हो सके।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *