Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

बालूमाथ के पत्रकार ने आधी रात को रक्तदान कर बचाई महिला की जान

यह जावेद की 40वीं रक्तदान था

लातेहार : बालूमाथ के पत्रकार सह समाजसेवी जावेद अख्तर ने रातू के वरदान अस्पताल में भर्ती बबीता देवी नाम की गर्भवती महिला की जान बचाने के लिए देर रात रक्तदान किया।

लातेहार जिला अंतर्गत बालूमाथ के तसतबार निवासी स्वर्गीय मदन ठाकुर की गर्भवती पुत्री बबीता देवी के पेट में बच्चा मर गया था। बबीता की शादी उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद (अब प्रयागराज) में सोनू ठाकुर से हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बबीता प्रसव के लिए अपना मायके बालूमाथ आई हुई थी। इसी बीच पेट दर्द उठने के बाद बबीता को उसकी विधवा मां डिलेवरी के लिए रांची के सदर हॉस्पिटल ले गई। जहां डॉक्टरों ने जवाब दे दिया।

इसके बाद उसे रांची के रातू स्थित वरदान हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां डॉक्टर का कहना था कि इस महिला के शरीर में हीमोग्लोबिन बहुत कम है और ऑपरेशन कर मृत बच्चा को जल्दी बाहर निकालना होगा। नहीं तो इस गर्भवती महिला की भी जान जा सकती है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

आधी रात को अपनी बेटी की जान बचाने के लिए उसकी विधवा मां बहुत परेशान थी। डॉक्टर ब्लड उपलब्ध हुए बगैर ऑपरेशन करने लिए तैयार नहीं थे। किसी तरह इस बात की जानकारी पत्रकार जावेद अख्तर को हुई। देर रात रांची के रिम्स स्थित ब्लड बैंक में जाकर जावेद अख्तर ने रक्तदान कर बबीता देवी को खून उपलब्ध कराया और उसकी जान बचाई। मौके पर पीड़ित महिला के परिजनों ने जावेद के प्रति आभार जताया।