Breaking :
||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली

सीसीएल प्रबंधन से नाराज ग्रामीणों ने खोला मोर्चा, समस्या का नहीं हुआ निदान तो कार्य बंद करने को होंगे बाध्य

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ प्रखंड के आरा ग्राम में पंचायत के मुखिया परमेश्वर गांव की अध्यक्षता में विभिन्न समस्याओं को लेकर ग्रामीणों की एक बैठक हुई। जिसमें ग्राम क्षेत्र में फैली समस्या को लेकर चिंता व्यक्त की गयी।

साथ ही सीसीएल प्रबंधन द्वारा कोलियरी खोलने के पूर्व किए गए वादे को विस्तार पूर्वक बैठक में रखी गई। कहा गया कि सीसीएल ने क्षेत्र के लोगों को कोलियरी खुलने के समय कहा था कि क्षेत्र के लोगों को नौकरी मुआवजा के साथ-साथ हर हाथ को काम के साथ रोजगार दिया जाएगा। लेकिन यहां के लोग आज भी बेरोजगार है और जितने लोगों की भूमि ली गई है उस अनुसार उन्हें नौकरी और मुआवजा भी प्रदान नहीं किया गया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यहां तक की इस क्षेत्र के लोग मूलभूत सुविधा पानी बिजली सड़क शिक्षा चिकित्सा आदि समस्याओं से जूझ रहे है। सीसीएल प्रबंधन ग्रामीणों के साथ दोहरा रवैया अपना रही है। अगर यही स्थिति बनी रही तो आने वाले दिनों में क्षेत्र के ग्रामीण सीसीएल के सभी कार्यों को बंद कराने पर मजबूर होंगे।

इस बैठक में ग्राम क्षेत्र के रामनंदन साहू, रवि प्रकाश साहू के साथ-साथ काफी संख्या में पुरुष और महिला मौजूद रहे।