Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
बालूमाथलातेहार

आंगनबाडी सेविका-सहायिका ने 9 सूत्री मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन, अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : झारखंड प्रदेश आंगनबाडी वर्कर्स यूनियन के तत्वधान में बालूमाथ बाल विकास परियोजना अंतर्गत पड़ने वाले बालूमाथ, बारियातू तथा हेरंज प्रखंड क्षेत्र के सैकड़ों आंगनबाड़ी सेविका सहायिका ने अपनी 9 सूत्री मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम बालूमाथ स्थित परियोजना कार्यालय के प्रधान सहायक को ज्ञापन सौंपा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ज्ञापन के माध्यम से 11 माह से लंबित मानदेय तत्काल भुगतान करने के साथ-साथ आंगनबाड़ी सेविका सहायिका की नियमावली बनाने, समान काम समान वेतन लागू करने, वर्तमान झारखंड सरकार द्वारा चुनावी घोषणा पत्र में आंगनबाड़ी सेविका को 10000 और सहायिका को 8000 देने, सेवानिवृत्त होने पर आर्थिक लाभ एकमुश्त 500000 तथा पेंशन लागू करने, लघु आंगनबाड़ी सेविकाओं को आंगनबाड़ी सेविका के बराबर मानदेय देने आदि प्रमुख मांगे हैं।

वही आंगनबाड़ी सेविकाओं ने कहा कि अगर हमारी मांगे नहीं मानी गई तो हम लोग अनिश्चितकालीन हड़ताल में चले जाएंगे।

मौके पर आगनबाडी वर्क्स यूनियन की संगीता देवी, लक्ष्मी देवी, अंजनी देवी, नंदिनी देवी, सुनीता देवी, बबीता देवी, डोली कुमारी समेत काफी संख्या में आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका मौजूद थीं।