Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
चंदवालातेहार

लातेहार: चंदवा में रिंग्स खाने से 4 बच्चियां बीमार, एक की इलाज के दौरान मौत, तीन की हालत नाजुक

लातेहार : चंदवा प्रखंड क्षेत्र के परसही गांव में पैकेट बंद रिंग्स खाने से 4 बच्चियां फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गईं। जिसमे रविवार शाम को एक बच्ची की इलाज के क्रम में रिम्स में मौत हो गयी।

परिजनों के मुताबिक अनिल गंझू की पुत्री सृष्टि कुमारी (डेढ़ वर्ष), अराध्या कुमारी (4 वर्ष) ने शनिवार शाम पैकेट बंद रिंग्स खाया। इसके बाद दोनों को नींद आने लगी, परिजनों को लगा की रात हो गई है जिस वजह से बच्चों को नींद आ रही है। इसके बाद परिजन दोनों बच्चों को सुलाकर खुद सो गए।

रविवार की अहले सुबह सृष्टि कुमारी की हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद परिजन उसे चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर कर दिया गया। इसके ठीक आधे घंटे के बाद उसकी छोटी बहन अराध्या कुमारी की हालत भी बिगड़ने लगी उसे भी आनन फानन में अस्पताल लाया गया। उसकी भी गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने रेफर कर दिया।

बॉलीवुड और मनोरंजन की ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

परिजनों ने बताया कि रविवार की शाम सृष्टि कुमारी का रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। सृष्टि कुमारी का शव पोस्टमार्टम कर रिम्स प्रशासन ने परिजनों को सोमवार को सौंप दिया जबकि छोटी बहन अराध्या कुमारी अभी भी रिम्स में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

वहीं आज सोमवार की सुबह इसी गांव की रितिका कुमारी (साढ़े 4 वर्ष) और महेंद्र गंझु की पुत्री श्वेता कुमारी (2 वर्ष) ने सोमवार को गांव के ही दूकान से मिक्चर, रिंग्स व कुरकुरे खरीद कर खाया। जिसके बाद से इन दोनों बच्चियों की भी तबियत बिगड़ने लगी। जिन्हें आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चंदवा लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद गम्भीर हालत को देखते हुए दोनों को रिम्स रेफर कर दिया गया।

रितिका कुमारी और स्वेता कुमारी की स्थिति भी चिंताजनक बनी हुई है। इस घटना के बाद चंदवा सीएचसी की मेडिकल टीम ने गांव जाकर दुकान में बिक रहे मिक्चर व रिंग्स कुरकुरे के नमूना को संग्रह कर जांच के लिए भेज दिया है।

इसी को खाकर बीमार हुए बच्चे

सामाजिक कार्यकर्ता सह कामता पंचायत समिति सदस्य अयुब खान ने रविवार रात को मृत बच्ची सृष्टि कुमारी के परिजनों के घर जाकर परिवार को ढांढस बंधाया। वहीं सोमवार को अस्पताल जाकर फूड प्वाइजनिंग की शिकार बच्चों का हाल जाना। चिकित्सकों से मुलाकात कर आवश्यक प्रक्रिया पूरी कराकर बच्चों को तत्काल रिम्स भिजवाया।

Chandwa News