Breaking :
||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव

लातेहार: चंदवा में रिंग्स खाने से 4 बच्चियां बीमार, एक की इलाज के दौरान मौत, तीन की हालत नाजुक

लातेहार : चंदवा प्रखंड क्षेत्र के परसही गांव में पैकेट बंद रिंग्स खाने से 4 बच्चियां फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गईं। जिसमे रविवार शाम को एक बच्ची की इलाज के क्रम में रिम्स में मौत हो गयी।

परिजनों के मुताबिक अनिल गंझू की पुत्री सृष्टि कुमारी (डेढ़ वर्ष), अराध्या कुमारी (4 वर्ष) ने शनिवार शाम पैकेट बंद रिंग्स खाया। इसके बाद दोनों को नींद आने लगी, परिजनों को लगा की रात हो गई है जिस वजह से बच्चों को नींद आ रही है। इसके बाद परिजन दोनों बच्चों को सुलाकर खुद सो गए।

रविवार की अहले सुबह सृष्टि कुमारी की हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद परिजन उसे चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर कर दिया गया। इसके ठीक आधे घंटे के बाद उसकी छोटी बहन अराध्या कुमारी की हालत भी बिगड़ने लगी उसे भी आनन फानन में अस्पताल लाया गया। उसकी भी गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने रेफर कर दिया।

बॉलीवुड और मनोरंजन की ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

परिजनों ने बताया कि रविवार की शाम सृष्टि कुमारी का रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। सृष्टि कुमारी का शव पोस्टमार्टम कर रिम्स प्रशासन ने परिजनों को सोमवार को सौंप दिया जबकि छोटी बहन अराध्या कुमारी अभी भी रिम्स में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

वहीं आज सोमवार की सुबह इसी गांव की रितिका कुमारी (साढ़े 4 वर्ष) और महेंद्र गंझु की पुत्री श्वेता कुमारी (2 वर्ष) ने सोमवार को गांव के ही दूकान से मिक्चर, रिंग्स व कुरकुरे खरीद कर खाया। जिसके बाद से इन दोनों बच्चियों की भी तबियत बिगड़ने लगी। जिन्हें आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चंदवा लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद गम्भीर हालत को देखते हुए दोनों को रिम्स रेफर कर दिया गया।

रितिका कुमारी और स्वेता कुमारी की स्थिति भी चिंताजनक बनी हुई है। इस घटना के बाद चंदवा सीएचसी की मेडिकल टीम ने गांव जाकर दुकान में बिक रहे मिक्चर व रिंग्स कुरकुरे के नमूना को संग्रह कर जांच के लिए भेज दिया है।

इसी को खाकर बीमार हुए बच्चे

सामाजिक कार्यकर्ता सह कामता पंचायत समिति सदस्य अयुब खान ने रविवार रात को मृत बच्ची सृष्टि कुमारी के परिजनों के घर जाकर परिवार को ढांढस बंधाया। वहीं सोमवार को अस्पताल जाकर फूड प्वाइजनिंग की शिकार बच्चों का हाल जाना। चिकित्सकों से मुलाकात कर आवश्यक प्रक्रिया पूरी कराकर बच्चों को तत्काल रिम्स भिजवाया।

Chandwa News