Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

लातेहार जिले के 38 स्कूल स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार से सम्मानित

लातेहार : स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021-22 के तहत जिले के चयनित 38 विद्यालयों के लिए नगर भवन में प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। कार्यक्रम की शुरुआत विधायक बैद्यनाथ राम, उपायुक्त अबु इमरान और जिला परिषद अध्यक्ष पूनम देवी समेत अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर की।

स्वच्छता के बिना अच्छी शिक्षा की कल्पना बेमानी : विधायक

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्थानीय विधायक बैद्यनाथ राम ने कहा कि स्वच्छता के बिना अच्छी शिक्षा की कल्पना करना बेमानी होगा। लातेहार जिले के 38 स्कूलों ने स्कूल में पेयजल, शौचालय, हाथ धोने की इकाई, व्यवहार परिवर्तन के लिए अपनी पहचान बनाई है। आने वाले समय में यह संख्या और बढ़ेगी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विधायक ने कहा कि विद्यालय स्तर पर शिक्षा के साथ-साथ स्वच्छता की चर्चा नियमित रूप से बच्चों के साथ शिक्षकों को करनी चाहिए।

स्वच्छता के पैमाने पर राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाना गर्व की बात : उपायुक्त

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त अबु इमरान ने कहा कि पिछले साल की तुलना में लातेहार से स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए चुने गए स्कूलों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। आने वाले समय में शिक्षकों और यूनिसेफ की टीम के सहयोग से यह संख्या और बढ़ेगी।

उन्होंने कहा कि लातेहार जिले से राष्ट्रीय स्तर पर चयन होना बड़े गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि अन्य सभी स्कूलों में पीने के पानी और स्कूल में शौचालय जैसी बुनियादी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. नगर भवन में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला शिक्षा अधिकारी निर्मला कुमारी बरेली ने की।

इन विद्यालयों को मिला पुरस्कार

संत तेरसा पब्लिक स्कूल महुआडांड़, लातेहार पब्लिक स्कूल, उच्च विद्यालय मुरूप, बालिका उच्च विद्यालय चंदवा, मध्य विद्यालय तुरीसोत, कस्तूरबा गांधी विद्यालय चंदवा, मध्य विद्यालय डुमारो, मध्य विद्यालय होरीलॉग, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय लातेहार, उत्क्रमित मध्य विद्यालय अमवाटीकर, मध्य विद्यालय करकट, सरस्वती विद्या मंदिर लातेहार, जवाहर नवोदय विद्यालय लातेहार, केंद्रीय विद्यालय लातेहार, राजकीय मध्य विद्यालय मोगर, संत जेवियर अकैडमी लातेहार, प्राथमिक विद्यालय हिसरी, बालिका विद्यालय बरवाडीह, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय बालूमाथ, मनिका उच्च विद्यालय, चीरू, हेरहंज समेत अन्य विद्यालयों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में जिला परिषद अध्यक्षा पूनम देवी, जिला परिषद उपाध्यक्षा अनीता देवी, जिला परिषद सदस्य विनोद उरांव, जिला योजना पदाधिकारी संतोष कुमार भगत समेत कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।