Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Sunday, June 16, 2024
झारखंड

बजट सत्र के समापन पर मुख्यमंत्री ने सदन में कहा नेतरहाट की तर्ज पर खोले जा रहे हैं तीन और स्कूल, पुलिस कर्मियों को मिलेगा क्षतिपूर्ति अवकाश

रांची : झारखंड विधानसभा का बजट सत्र शुक्रवार को संपन्न हो गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार स्कॉलरशिप को फिर से 3 गुना बढ़ाने जा रही है। शायद इसे और भी बढ़ा दें। हेमंत ने कहा कि उनकी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेकर पारा शिक्षकों की समस्या का समाधान किया है। 65 हजार पारा शिक्षकों को अब सहायक अध्यापक के रूप में जाना जाएगा। शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक सुधार किए गए हैं। 250 करोड़ की लागत से आधुनिक स्कूल खोले जा रहे हैं। नेतरहाट की तर्ज पर 3 स्कूल खोले जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार कल्याण विभाग के छात्रावास में छात्रों के लिए भोजन उपलब्ध कराएगी। रसोइयों को भी रखा जाएगा और गार्ड भी तैनात किए जाएंगे। वहीं, पुलिस कर्मियों को क्षतिपूर्ति अवकाश भी मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें यहीं मरना है और जीना है। सरकार रहे न रहे, हमें यहीं रहना है। झारखंड की भावना के अनुरूप काम करेंगे। मौत के बाद विपक्ष को यूपी, बिहार, छत्तीसगढ़ जाना है। मंहगाई के चलते सभी क्षेत्रों में अराजकता बढ़ेगी।

पिछली सरकार राज्य के लिए नहीं बल्कि व्यक्ति के लिए काम कर रही थी। 41 विधायकों के लिए काम किया। एक कहावत है कि भूत से बचने के लिए सरसों का इस्तेमाल किया जाता है, जब सरसों में ही भूत घुस जाए तो वह कैसे भागेगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *